eknath shinde

  • जव्हार पुलिस ने दो तांत्रिकों को किया गिरफ्तार, मुख्य सूत्रधार फरार

ठाणे. अत्याधुनिक 21वीं सदी में अंध विश्वास में कमी नजर नहीं आ रही है। दरअसल, राज्य के नगर विकास मंत्री तथा ठाणे जिले के पालकमंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) पर काला जादू और तांत्रिक क्रिया करने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। ठाणे जिले जिले के पालकमंत्री शिंदे की फोटो को चावल में गाड़ कर तांत्रिक क्रिया करने वाले दो तांत्रिकों को पालघर पुलिस ने जव्हार पुलिस की सीमा से गिरफ्तार किया है। पकड़े गए कृष्णा कुरकुटे तथा संतोष वारडी के खिलाफ जव्हार पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है। पुलिस के अनुसार मुख्य सूत्रधार अभी फरार है और उसकी गिरफ़्तारी के बात पूरी सच्चाई सामने आएगी। पुलिस उसकी सरगर्मी से तलाश कर रही है।  

महाराष्ट्र में अघोरी प्रथा, जादू-टोना तथा नरबलि जैसे अंधविश्वासों को रोकने के लिए 2013 में कड़ा कानून बनाया गया था। लेकिन आज भी इस तरह के अंधविश्वास को बढ़ावा देने वाली प्रथा जारी है। हालांकि विक्रमगढ़ तालुका  स्थित जव्हार पुलिस स्टेशन की सीमा के अंतर्गत करहे तलावली गांव के एक घर में चल रहे काला जादू का पर्दाफाश पुलिस ने किया है। 

शिंदे की फोटो पर चावल,  काला पावडर लगाकर कर रहे थे तांत्रिक क्रिया 

पुलिस के अनुसार शिंदे की फोटो चावल में रखी हुई थी और उस पर कुंकू, हल्दी पावडर, काला पावडर लगा हुआ था और सामने नींबू और सफ़ेद मुर्गा रखा हुआ था और तांत्रिक कुछ मंत्र पढ़कर तांत्रिक क्रिया कर रहे थे। पुलिस ने दोनों तांत्रिकों को रंगे हाथ पकड़ा। पालघर के उपविभागीय अधिकारी विकास नाईक के मार्गदर्शन में बोइसर स्थानीय अपराध शाखा ने उक्त कार्रवाई की। चर्चा है कि शिंदे के नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से अघोरी प्रक्रिया से तांत्रिक क्रिया की जा रही थी। हालांकि पुलिस ने अभी कुछ ज्यादा कहने से इंकार किया है और छानबीन कर रही है। इस बारे में एकनाथ शिंदे ने पूछने पर बताया कि उन्हें भी मालूम पड़ा है की पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। शिंदे के अनुसार पुलिस जाँच कर रही है और पूछताछ में सच सामने आएगा।