new guide lines for government employees,

    मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Udhav Thackeray) ने शिक्षा विभाग (Health Department) को आदेश दिया है कि, जो गांव कोरोना से मुक्त हो चुके हैं और जहां कोरोना (Corona Virus) के रोकने सारे नियम का पालन किया जा रहा है। वहां पर 10वीं और 12वीं की क्लास पुनः शुरू किया जाए। मंगलवार को इस बात की जानकारी मुख्यमंत्री कार्यालय (Chief Minister Office) ने दी। 

    सीएमओ के अनुसार, सीएम उद्धव ठाकरे ने स्कूल शिक्षा विभाग को उन गांवों में 10 और 12 कक्षाओं को फिर से शुरू करने का मूल्यांकन करने का निर्देश दिया है जो पिछले कुछ महीनों से COVID मुक्त हैं और सख्त #COVID प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि वे भविष्य में COVID मुक्त रहें।

    राज्य सरकार ने एक बयान में कहा कि जिन गांवों और कस्बों में लंबे समय से कोरोना वायरस संक्रमण का कोई नया मामला सामने नहीं आया है और जहां नया संक्रमण पता चलने की गुंजाइश नहीं है, वहां स्कूलों और कॉलेजों को फिर से खोले जाने पर विचार किया जा सकता है। 

    मुख्यमंत्री ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को ऐसे गांवों और कस्बों का पता लगाने को भी कहा, जहां स्कूल तथा कॉलेज फिर से खोले जा सकते हैं। मुख्यमंत्री ने विभाग को 10 वीं और 12 वीं कक्षाओं के ऐसे छात्रों के मूल्यांकन के लिए सीबीएसई जैसे बोर्डों द्वारा अपनाई गई पद्धति का अध्ययन करने को भी निर्देश दिया, जिनकी परीक्षाएं महामारी के कारण रद्द कर दी गई है। 

    ज्ञात हो कि, कोरोना वायरस की दूसरी लहर से आए संकट के कारण पिछले एक साल से स्कूल और कॉलेज में ताला लगा हुआ है। कोरोना के संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा को रद्द कर दिया है। वहीं आने वाले कुछ दिनों में रिजल्ट भी जारी करने वाली है।