Thane Corona: Corona attack in Kalyan jail, 30 prisoners found infected, hospitalized
File

    मुंबई. जहाँ एक तरफ देश में फिर एक बार कोरोना संक्रमण (Corona Pandemic) तेजी  से फैल रहा है।वहीं दूसरी तरफ महाराष्ट्र (Maharashtra) राज्य में एक बार फिर कोरोना वायरस (Corona Virus) के मामलों में जबरदस्त तेजी देखने को मिल रही है। बीते फरवरी 2021 के मध्य से ही महाराष्ट्र में कोरोना के दैनिक मामलों में जबरदस्त उछाल है। जहाँ पिछले एक हफ्ते में राज्य में औसतन दैनिक मामले 7000 के आस-पास आ रहे हैं, वहीं एक मार्च को राज्य में थोड़ी राहत दिखी और उस दिन सिर्फ 6,397 नए मामले ही सामने दिखे थे।

    मार्च के 5 दिन और 50 हजार से ज्यादा केस:

    लेकिन फिर बीते 28 फरवरी से लेकर पांच मार्च के बीच अब तक कोरोना के 51,612 नए मामले सामने आ चुके हैं। जहाँ बीते 28 फरवरी को महाराष्ट्र में एक दिन में 8,283 नए मामले सामने आए थे, हालांकि एक मार्च को फिर दैनिक मामलों के मुद्दे में थोड़ी बहुत गिरावट आयी थी और उस दिन 6,397 नए मामले ही सामने आए थे। वहीं दो मार्च को मामलों में बढ़ोतरी हुई और उस दिन 7,863 नए मामले सामने आए थे । 

    वहीं तीन मार्च को 9,855 नए मामले और चार मार्च को फिर 8,998 नए मामले देखे गए थे। गौरतलब है कि बता दें कि बीते 17 अक्तूबर 2020 को महाराष्ट्र में एक दिन में 10,259 सबसे ज्यादा मामले दर्ज हुए थे। वहीं अब महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में भी कोरोना के मामलों में जबरदस्त बढ़ोतरी देखने को मिल रही है, वहीं मुंबई में रोजाना 700 के आस-पास मामले देखने को मिल रहे हैं।

    क्या हो रही जिलों में लॉकडाउन की तैयारी!

    सूत्रों के माने तो अमरावती जिले में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी को देखते हुए अब लॉकडाउन लगाने या न लगाने पर अहम् फैसला किया जायेगा। जहाँ जिलों में अभी भी स्कूल और शैक्षिक संस्थान बंद हैं। वहीं बीते 21 फरवरी को एक बैठक के दौरान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा था कि महाराष्ट्र में अगले 8-15 दिनों के बीच स्थिति की फिर समीक्षा की जाएगी। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा था कि तब तक राज्य में किसी भी सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक और राजनैतिक सभा को प्रतिबंधित करने के अलावा कोई राज्यव्यापी प्रतिबंध नहीं लगाया जायेगा। 

    क्या है लॉकडाउन पर मंत्रियों का कहना?

    इधर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Udhhav Thackrey)  ने राज्य में एक बार फिर लॉकडाउन (Lock Down) करने की इच्छा जाहिर ना करते हुए कहा था कि, “मैं दोबारा लॉकडाउन नहीं लगाना चाहता लेकिन मजबूरी भी कुछ होती है।” वहीं 28 फरवरी से मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे इसके बयान के बाद महाराष्ट्र में लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। इस पर महाराष्ट्र के मंत्री विजय वडेट्टीवार (Vijay Wethhivar) का कहना था कि महाराष्ट्र सरकार मुंबई लोकल ट्रेन को प्रतिबंधित करने पर फिर विचार कर सकती है, जिसे अभी हाल ही में यानी एक फरवरी से आम जनता के लिए खोला गया था।

    वहीं BMC के अतिरिक्त कमिश्नर सुरेश ककानी का कहना है कि फिलहाल नागरिक निकाय, मुंबई में किसी तरह का कोई नया अतिरिक्त प्रतिबंध लगाने के समर्थन में बिलकुल नहीं है।