मनसे का शिवसेना पर तंज, “अब मुसीबत है, तब आए राज ठाकरे याद?”

मुंबई. महाराष्ट्र में अभिनेत्री कंगना रनौत और शिवसेना में पिछले कुछ दिनों से काफी जुबानी जंग चल रही है। इस बीच, शिवसेना के संजय राउत ने कहा था कि, महाराष्ट्र में ‘ठाकरे ब्रांड’ बनाए रखना शिवसेना के साथ-साथ राज ठाकरे की भी ज़िम्मेदारी है। राउत के इस बयान पर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अमेय खोपकर ने फटकार लगाई है। खोपकर ने कहा कि, “क्या अब शिवसेना मुसीबत में है इसलिए ‘ठाकरे ब्रांड’ को याद किया है?”

अमेय खोपकर ने संजय राउत को फटकारते हुए कहा कि, “बाला साहेब ठाकरे के बाद महाराष्ट्र में राजसाहब ठाकरे एकमात्र फायरब्रांड हैं। राज्य में तमाम विवादों के बाद अब आपको ‘ठाकरे ब्रांड’ को लेकर चिंता हैं। लेकिन, इसे आप अपने पास रखें। मानसनिकों को राज ठाकरे ब्रांड और उनकी लोकप्रियता के बारे में कभी कोई संदेह नहीं था और भविष्य में भी नहीं होगा। खोपकर ने आगे कहा, आपने अपने आत्मसम्मान को लपेट रखा है, लेकिन इसमें हमारे राजसाहब को मत घसीटें।”

गौरतलब है कि, पिछले कुछ दिनों से अभिनेत्री कंगना रनौत शिवसेना पर शाब्दिक हमला बोल रही हैं। कंगना रनौत ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (POK) से करने के बाद, शिवसेना ने कंगना की काफी निंदा की। हालांकि, कंगना भी उसी जलन के साथ शिवसेना को जवाब दे रही हैं। वहीं कंगना को केंद्र और राज्यों में भाजपा नेताओं का मजबूत समर्थन मिल रहा है। 

इसी पृष्ठभूमि पर संजय राउत ने ‘सामना; के रोकठोक शीर्षक से ‘ठाकरे ब्रांड’ का हवाला देते हुए अप्रत्यक्ष रूप से राज ठाकरे को याद किया था। सामना में कहा था कि, “‘ठाकरे’ महाराष्ट्र के स्वाभिमान का ब्रांड है। इस ब्रांड को नष्ट करके मुंबई पर कब्ज़ा करने का प्रयास किया जा रहा है। राज ठाकरे भी उसी ब्रांड का एक हिस्सा हैं और यह भविष्य में उन्हें प्रभावित करेगा। इसलिए, राउत ने कहा था कि, शिवसेना के साथ उनके मतभेद हो सकते हैं, लेकिन अंत में, महाराष्ट्र में ‘ठाकरे ब्रांड’ कायम होना चाहिए।”