navab malik

    मुंबई: राष्ट्रवादी कांग्रेस प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Naredra Modi) के मुलाकात की है। दोनों नेताओं की मुलाकात के बाद महाराष्ट्र (Maharashtra) की राजनीति में फिर से सुगबुगाहट शुरू हो गई है। वहीं इस पर एनसीपी ने अपनी सफाई दी है। महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक (Navab Malik) ने कहा, “बीजेपी (BJP) और राकांपा (NCP) एक नदी के दो छोर हैं, जब तक नदी में पानी है तब तक दोनों साथ नहीं आ सकते. हम वैचारिक और राजनीतिक रूप से बिल्कुल अलग हैं।”

    गोयल के साथ शिष्टाचार मुलाकात

    नवाब मलिक ने कहा, “राकांपा प्रमुख शरद पवार पिछले 2 दिनों से दिल्ली में हैं और राज्यसभा में भाजपा के सदन के नेता के रूप में नियुक्त होने के बाद, पीयूष गोयल ने खुद उन्हें शिष्टाचार भेंट दी। कल शरद पवार ने भी रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की।”

    उन्होंने कहा, “पूर्व रक्षा मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एके एंटनी और सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवने भी वहां मौजूद थे। सरकार ने उन्हें सीमा पर स्थिति से अवगत कराया, ऐसी स्थितियों से निपटने के लिए पूर्व रक्षा मंत्रियों के रूप में उनके अनुभव के बारे में महत्वपूर्ण चर्चा हुई।”

    यह खबरें गुमराह करने की कोशिश 

    भाजपा नेताओं के साथ शरद पवार की बैठकों पर एनसीपी नेता ने कहा, “कई लोग गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि महाराष्ट्र के विपक्षी नेताओं की पृष्ठभूमि में (पीएम और रक्षा मंत्री के साथ उनकी बैठकों की) पृष्ठभूमि में शरद पवार से मुलाकात हुई। यह झूठ है कि दिल्ली में पवार साहब और महाराष्ट्र के विपक्षी नेताओं की बैठक हुई है।”