समाधान आवताडे 3733 वोटों से निर्वाचित, पंढरपुर-मंगलवेढा में महाविकास आघाड़ी को झटका

    मुंबई. पश्चिम बंगाल  (West Bengal) एवं केरल  (Kerala) में भाजपा  (BJP) को भले ही अपेक्षाकृत सफलता नहीं मिली। लेकिन महाराष्ट्र के पंढरपुर-मंगलवेढा में कमल का फूल तीन दलों के गठबंधन एवं सहानुभूति की लहर पर भारी पड़ा है। विधानसभा उप चुनाव (Pandharpur Assembly by Election) में भाजपा उम्मीदवार समाधान अवताड़े (Samadhan Awtade) ने  3733 वोटों से जीत हासिल की है। जिससे भाजपा खेमे में भारी उत्साह है। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल सहित अन्य नेताओं ने इसके लिए क्षेत्र के मतदाताओं एवं पार्टी कार्यकर्ताओं को बधाई दी है।

     राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के विधायक भारत भालके के निधन की वजह से रिक्त हुए पंढरपुर-मंगलवेढा विधानसभा के लिए उपचुनाव कराया गया था। रविवार को हुए मतगणना के बाद भाजपा के उम्मीदवार समाधान आवताडे निर्वाचित घोषित किया गया। हालांकि एनसीपी ने इस चुनाव को प्रतिष्ठा से जोड़ रखा हुआ था। उप मुख्यमंत्री अजीत पवार एवं  राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी  के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल सहित अन्य नेता कई दिनों तक वहीं जमे हुए थे। मतगणना के शुरुआती दौर में  राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी  के उम्मीदवार भगीरथ भालके आगे थे, लेकिन छठे राउंड के बाद भाजपा उम्मीदवार ने बढ़त बनाई जो आखिरी राउंड तक जारी रही। समाधान आवताडे को 1 लाख 9 हजार 450 वोट मिले, जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी भगीरथ भालके को 1 लाख 5 हजार 717 वोट हासिल हुए हैं। 

    चुनाव में कुल 19 उम्मीदवार थे

    पंढरपुर-मंगलवेढा विधानसभा उप चुनाव पर पूरे महाराष्ट्र की नजर लगी हुई थी। एनसीपी ने दिवंगत विधायक भरत भालके के उम्मीदवार भगीरथ भालके को उम्मीदवार बनाया था। पार्टी को उम्मीद थी कि भालके को सहानुभुति का भी फायदा मिलेगा। उप चुनाव में वैसे तो कुल 19 उम्मीदवार थे, लेकिन मुख्य मुकाबला एनसीपी एवं भाजपा उम्मीदवारों के बीच ही था। भाजपा के समाधान आवताडे ने 19वें राउंड तक  मतलब पंढरपुर शहर एवं ग्रामीण क्षेत्र में अपनी बढ़त बनाए रखी।