satish-pradhan

ठाणे. बाबरी मस्जिद विध्वंस (Babri Demolition Case) मामले के आरोपी एवं शिवसेना (Shiv Sena) के पूर्व सांसद सतीश प्रधान (Satish Pradhan) ने इस मामले में सभी 32 आरोपियों को बरी करने के सीबीआई की विशेष अदालत के आदेश का बुधवार को स्वागत किया। ठाणे के पूर्व महापौर 80 वर्षीय प्रधान ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए सुनवाई में भाग लेने के बाद ‘पीटीआई भाषा’ से कहा, ‘‘सच्चाई की जीत हुई है।”

अदालत ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ कोई पुख्ता सबूत नहीं है। प्रधान को इस मामले में पहले जमानत दी गई थी। पहले शिवसेना के नेता रहे प्रधान अब भाजपा में हैं। प्रधान ने कहा, ‘‘सच की हमेशा जीत होती है। न्यायपालिका में हमारा पूरा भरोसा है।” प्रधान एक समय शिवसेना सुप्रीमो दिवंगत बाल ठाकरे के विश्वसनीय सहयोगी थे और उन्होंने कोंकण क्षेत्र एवं महाराष्ट्र में पार्टी के विस्तार में मदद की थी।

‘कारसेवकों’ में शामिल रहे स्थानीय भाजपा नेता ओम प्रकाश शर्मा ने भी अदालत के फैसले का स्वागत किया। शर्मा ने सभी आरोपियों को बरी किए जाने पर खुशी जताई। सीबीआई की विशेष अदालत ने बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में भाजपा नेताओं लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी समेत सभी 32 आरोपियों को बुधवार को बरी कर दिया। मामला छह दिसंबर 1992 को अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाए जाने से जुड़ा हुआ है।