Smuggling of imported cars busted in Mumbai, DRI's big action on gang bringing luxury vehicles to India in the name of diplomatic privileges
Photo: ANI

    मुंबई: मुंबई (Mumbai) में डीआरआई (DRI) ने एक बड़े इंटरनेशल कार (Car) समग्लिंग रैकिट का भंडाफोड़ किया है। मामले में एजेंसी ने गुरुग्राम स्थित लक्जरी कार डीलर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) और दो अन्य को गिरफ्तार किया है। अब तक छह लग्जरी कारों को भी ज़ब्त किया गया है। बताया जा रहा है कि, ये गिरोह राजनयिक विशेषाधिकारों के इस्तेमाल कर लक्जरी कारों को इम्पोर्ट करते थे और बाद में कारों को बेच देते थे। राजनयिक विशेषाधिकारों का इस्तेमाल करने से इन्हें कस्टम ड्यूटी में छूट मिलती थी जिससे सरकार को अब तक करोड़ों रुपये का नुक्सान हुआ है। 

    एक रिपोर्ट के मुताबिक, सात शहरों में किए गए मोंटे कार्लो नाम के डीआरआई के ऑपरेशन में पाया गया है कि, पिछले पांच वर्षों में राजनयिकों के नाम पर 20 से अधिक लग्जरी वाहनों की भारत में तस्करी की गई है और बाद में, निजी लोगों को इन कारों का प्राइवेट रजिस्ट्रेशन कर बेच दिया गया।

    भारत में विदेशी राजनयिकों और मिशनों द्वारा किए गए आयात विदेशी विशेषाधिकार प्राप्त व्यक्तियों (सीमा शुल्क विशेषाधिकारों का विनियमन) नियम, 1957 द्वारा शासित होते हैं। भारत सरकार भारत में राजनयिक मिशनों के सदस्यों के कुछ वर्गों और उनके परिवार के सदस्यों को सभी आयातित वस्तुओं पर सीमा शुल्क छूट प्रदान करती है। मौजूदा नियमों के अनुसार, आयातित मोटर कारों पर सीमा शुल्क एक कार की मूल कीमत पर 204 प्रतिशत है।

    डीआरआई के मुताबिक, तस्करी रैकेट का मास्टरमाइंड दुबई का रहने वाला एक शख्स है। जांच में ये भी पाया गया है कि, राजनयिकों के नाम पर ब्रिटेन, जापान और यूएई से भारत में लग्जरी कारों का आयात किया जाता था। इन वाहनों के लिए घरेलू पंजीकरण महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश और पंजाब में कुछ क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों (आरटीओ) में किया जाता था। रजिस्ट्रेशन होने के बाद इन कारों को भारतीय खरीदारों को बेच दिया जाता था। 

    जांच के दौरान, डीआरआई ने एक अफ्रीकी राष्ट्र के दिल्ली स्थित राजनयिक के नाम पर कार होने की बात सामने आई है। सूत्रों ने कहा कि, इस मामले में आयातित कार को मुंबई के अंधेरी के एक शोरूम में डिस्प्ले पर रखा गया था। डीआरआई कई और कारों को आने वाले दिनों में ज़ब्त कर सकती है।