पंजाबी कैंप की 4 और इमारतों का कटा पानी, बिजली कनेक्शन

  • 4  इमारतें ही बची हैं शेष 

मुंबई. सायन कोलीवाड़ा स्थित पंजाबी कैंप  की जर्जर  हो चुकी 25 इमारतों में से 21 इमारतों का बिजली पानी कनेक्शन एफ उत्तर विभाग ने काट दिया है. आज 4 और इमारतों का कनेक्शन काटे जाने के बाद केवल 4 इमारतें बची हैं जिनका कनेक्शन काटा जाना है. मुंबई की जर्जर हो चुकी इमारतें बीएमसी के लिए सिरर्दद बन चुकी हैं. मुंबई में 443  जर्जर इमारतें खतरनाक हो चुकी हैं जिनमें रहने वाले निवासियों से इमारतों को खाली कराया जा रहा है. उसमें से पंजाबी कैंप की भी 25 इमारतें थीं जिनमें रहने वाले लोग  खाली नहीं कर रहे थे इसलिए बीएमसी को बिजली पानी का कानेक्शन काटना पड़ा. 

एफ उत्तर विभाग के सहायक मनपा आयुक्त गजानन वेल्लाले ने बताया कि आज खतरनाक हो चुकी इमारतों को खाली कराने का उनका लक्ष्य था जिसे पूरा किया जा रहा है. 

स्थानीय निवासी दूसरा आशियाना तलाश रहे 

 पंजाबी कॉलोनी की 25 इमारतें पाकिस्तान से आए रिफ्यूजियों के लिए बनाई गई थीं. इन इमारतों में रहने वाले निवासियों ने वर्षाे तक मालिकाना अधिकार पाने की लड़ाई लड़ी जिसमें लंबे अर्से के बाद उनको सफलता मिली. जर्जर हो चुकी इमारतों को रिडेवलपमेंट के लिए कई बिल्ड़र आए लेकिन मामला अब भी लटका पड़ा है. अब बिजली पानी कनेक्शन काटने से स्थानीय निवासी दूसरा आशियाना तलाश रहे हैं. 

17 बिल्डिंगों का मालिकाना हक सोसायटी को दे दिया 

 पंजाबी कॉलोनी को सन 1950 के आसपास भारत सरकार ने करीब 12 एकड़ भूखंड पर बसाया था. कुल 25 बिल्डिंगें बनाई गई थी. जिसमें 1200 किराएदार थे. इस जमीन का मालिकाना हक राष्ट्रपति के नाम पर था. पिछली फडणवीस सरकार में राजस्व मंत्री रहते हुए एकनाथ खडसे ने यहां के  लोगों को मालिकाना हक दिलाने व इस क्षेत्र के विकास के लिए एक समिति गठित की थी. अब जाकर इन्हें मालिकाना हक मिलने लगा है. मुंबई शहर जिले के कलेक्टर राजीव निवतकर कहते हैं कि पंजाबी कॉलोनी की 25 बिल्डिंगों में से 17 बिल्डिंगों का मालिकाना हक सोसायटी को दे दिया है. छह बिल्डिंगों के सोसायटी को मालिकाना हक देने का काम चल रहा है और दो बिल्डिंग के कागजों की जांच-पड़ताल चल रही है. वे कहते हैं कि पंजाबी कॉलोनी का अब कलेक्टर से कोई लेना-देना नहीं है.निवासी जिसे चाहें डेवलप करने के लिए दे सकते हैं. 

अब तक 21 इमारतों का कनेक्शन काटा गया 

गजानन बेल्लाले ने बताया कि 10 अगस्त को इमारत क्रमांक 13 और 20 का कनेक्शन काटा गया था. 17 अगस्त को 23 व 25, 19 अगस्त को 21 व 22,  14 सितंबर को 14 व 15, 16 सितंबर को इमारत क्रमांक 16 व 17, 22 सितंबर को 8,9,10, 28 सितंबर को 1, 12, 18, 19 तथा 30 सितंबर को इमारत क्रमांक 4, 5, 6, 7 का कनेक्शन काटा गया. अब तक 21 इमारतों का कनेक्शन काटा गया है. बची हुई 4 इमारतों पर भी जल्द कार्रवाई की जाएगी.