बीएमसी में फिर भ्रष्टाचार, बीजेपी नेताओं ने गवर्नर को सौंपे सबूत

मुंबई. देश की सबसे समृद्ध मुंबई महानगरपालिका  में हो रहे भ्रष्टाचार को लेकर बीजेपी नेता लगातार आक्रामक बने हुए हैं. कोविड सेंटरों में भ्रष्टाचार का आरोप लगा कर बीजेपी राज्यपाल के पास पहले भी शिकायत कर चुकी है. एक बार फिर स्थायी समिति में किए जा रहे भ्रष्टाचार के सबूत राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को दिए हैं. 

बीएमसी में बीजेपी नेता विनोद मिश्र ने बताया कि बीएमसी में पिछले कई सालों से शिवसेना की सत्ता है और राज्य का मुख्यमंत्री भी शिवसेना के हैं. इस कारण से अब बीएमसी में भ्रष्टाचार का प्रमाण लगातार बढ़ता जा रहा है. राज्य में मुख्यमंत्री होने का शिवसेना दुरुपयोग कर रही है. शिवसेना नेता जिनके पास  महापौर से लेकर सभी समितियों के अध्यक्ष हैं, बीएमसी में आने वाली स्थायी समिति की एक ही बैठक में 674 प्रस्ताव पारित करने जा रही है.

 बीजेपी नेता ने आरोप लगाया कि बीएमसी में चल रहे करोड़ों के भ्रष्टाचार पर सवाल उठाने वाला विपक्षी दल भी महाविकास आघाड़ी के नाम पर शिवसेना के साथ मिला हुआ है.बीएमसी में चल रहे भ्रष्टाचार के संदर्भ में मंगलवार को  मुंबई भाजपा अध्यक्ष और विधायक मंगल प्रभात लोढा, बीएमसी गट नेता प्रभाकर शिंदे, प्रवक्ता भालचंद्र शिरसाठ, मकरंद नार्वेकर, पार्टी नेता विनोद मिश्रा राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से शाम 5 बजे राजभवन में  मुलाकात कर बीएमसी में किए जा रहे घोटालों का सबूत सौंपा. बीजेपी नेताओं ने साथ में शिकायती पत्र भी दिया है जिसमें बीएमसी में सत्ताधारी शिवसेना और बीएमसी अधिकारियों पर कार्रवाई करने की मांग की गई है.