उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने की पंढरपुर में पूजा

  • बोले, जितना मिला उतने में संतोष
  • सीएम बनने का सपना कब होगा पूरा !

मुंबई. महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कार्तिकी एकादशी के मौके पर पंढरपुर स्थित भगवान विट्ठल के मंदिर में अपनी पत्नी सुनेत्रा पवार के साथ ख़ास पूजा अर्चना की. इस मौके पर जब पवार से उनके सीएम बनने के सपने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मुझे जितना मिला है, उतने में संतोष है.

हालांकि महाराष्ट्र के राजनीति के जानकारों का कहना है कि राजनीति में कई अहम पद हासिल करने के बाद छोटे पवार की अगली मंजिल राज्य का मुख्यमंत्री बनना है. नेता विपक्ष देवेन्द्र फडणवीस ने भी कहा है कि उन्हें पता है कि अजीत पवार का सपना क्या है. ऐसे में भले ही अजीत खुले तौर पर कुछ न कहें, लेकिन वे अपने सीएम मिशन को कामयाब करने के लिए आगे काम करते रहेंगे.

एक किताब में इस बात का दावा किया गया है कि पिछले साल विधानसभा चुनाव के बाद अजीत शिवसेना के साथ सरकार बनाने के पक्ष में नहीं थे. उन्हें लगता था कि शिवसेना के साथ जाने से उनके सीएम बनने का रास्ता ब्लॉक हो सकता है. पिछले साल उन्होंने अचानक बीजेपी के साथ हाथ मिला कर राजनीति में बड़ा उलटफेर करने की कोशिश की थी, लेकिन वे अपने मिशन में कामयाब नहीं हो सके थे. ऐसे में अब देखना होगा कि सीएम बनने के महत्वाकांक्षा  रखने वाले अजीत का अगला कदम होगा.

कोरोना से मिले मुक्ति

उपमुख्यमंत्री पवार ने पंढरपुर में पूजा के बाद कहा कि उन्होंने  भगवान विट्ठल से महाराष्ट्र समेत पूरी दुनिया से कोरोनावायरस संक्रमण के खत्म होने के अलावा के इसे रोकने के लिए जल्द वैक्सीन आने की प्रार्थना की है. उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया कोविड-19 की चुनौती का सामना कर रही है. पूरा महाराष्ट्र कुशलता के साथ इस चुनौती का सामना कर रहा है. हम चाहते हैं कि जल्द ही कोविड-19 की वैक्सीन उपलब्ध हो और पूरी दुनिया को इस बीमारी से मुक्ति मिले. पवार ने कहा कि हाल के दिनों में ऐसा लग रहा था कि राज्य में कोरोना से हालात नियंत्रण में है, लेकिन पिछले कुछ दिनों से मरीजों की संख्या बढ़ रही है. उन्होंने लोगों से मास्क लगाने, हाथ धोने और भीड़भाड़ से दूर रहने समेत अन्य एहतियाती कदमों का पालन करने की अपील की है.