फडणवीस का आघाड़ी सरकार पर हमला, किया सवाल,आंकड़ा छुपाने की पॉलिसी कैसे दिलाएगी कोरोना पर विजय

– कोंकण के तूफान पीड़ितों को अभी तक नहीं मिली मदद

– बीजेपी के वर्चुअल रैली में एक करोड़ लोगों के शामिल होने का दावा

मुंबई.पूर्व मुख्यमंत्री एवं विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने राज्य में बढ़ रही कोरोना  मरीजों की संख्या, कोंकण के तूफान प्रभावितों की मदद, किसानों को खाद, बीज एवं लोन मिलने में हो रही दिक्कत सहित अन्य मुद्दों को लेकर महाविकास आघाड़ी सरकार पर जमकर हमला बोला है.उन्होंने कहा कि सरकार की पॉलिसी कोरोना से लड़ने की नहीं आंकड़ों को छुपाने की है,तो सवाल उठता है कि कोरोना की लड़ाई कैसे जीती जाएगी. फडणवीस बीजेपी की वर्चुअल रैली को संबोधित कर रहे थे.

वर्चुअल रैली का आयोजन 

 केंद्र सरकार की उपलब्धियों को आम लोगों तक पहुंचाने के लिए बीजेपी की तरफ से देश भर के विभिन्न इलाकों में वर्चुअल रैली का आयोजन किया जा रहा है.इसी के तहत रविवार को शाम मुंबई व कोंकण क्षेत्र के लिए वर्चुअल रैली का आयोजन किया गया था. जिसको संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कोरोना की रोकथाम के संदर्भ में की जा रही उपाय योजनाओं को लेकर  राज्य की उद्धव ठाकरे सरकार को कटघरे में खड़ा करने का प्रयास किया.

 पूरे महाराष्ट्र में बढ़ रहा है संक्रमण

उन्होंने कहा कि आंकड़ों को कम दिखाने के लिए जांच ही नहीं की जा रही है.मुंबई में 4 हजार टेस्ट किया जा रहा है, उसमें दो से ढाई हजार कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं. कोरोना से हुई देश में कुल मौत का 46 प्रतिशत हिस्सा महाराष्ट्र का है उसमें से भी मौत के सर्वाधिक मामले मुंबई के हैं.   कोरोना का संक्रमण एक तरह से पूरे महाराष्ट्र में बढ़ रहा है. मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में सही ढंग से जांच कर मरीजों का इलाज किया जाना चाहिए. फडणवीस ने कहा कि एक समय के लिए मरीजों की संख्या छुपाई जा सकती है, लेकिन कोरोना से होने वाली मौतों के लिए क्या करेंगे. उन्होंने कहा कि कोरोना उपचार के लिए खरीदी में घोटाला होने के मामले उजागर हो रहे हैं.

 केवल केंद्र सरकार को दोष दे रहे 

 पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा कि आघाड़ी सरकार के मंत्री केवल केंद्र सरकार को दोष दे रहे हैं. लोगों को साहूकारी प्रथा के तहत बिजली का बिल भेजा जा रहा है.सरकार को इस संदर्भ में कार्रवाई करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत का नारा दिया है.जिसके लिए  महाराष्ट्र को आगे आना पड़ेगा.उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने किसानों की उपज खरीदने के लिए पैसा उपलब्ध कराया, लेकिन राज्य सरकार की उदासीनता के चलते किसानों का कपास, मक्का, व अन्य उपज उनके घरों में ही पड़ी है.किसानों को खाद एवं बीज नहीं मिल रही है.

स्मृति ईरानी ने गिनाई मोदी सरकार की उपलब्धियां

मुंबई एवं कोंकण के लिए बीजेपी की तरफ से आयोजित जनसंवाद कार्यक्रम के तहत केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने जहां एक तरफ राज्य की आघाड़ी सरकार की आलोचना की, वहीं केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की उपलब्धियों को जनता के समक्ष गिनाया. उन्होंने देश की तमाम समस्याओं के लिए कांग्रेस पार्टी व घरानेशाही को जिम्मेदार बताया. वर्चुअल जनसंवाद रैली में उन्होंने कहा कि गांधी परिवार की सोच उनके परिवार की प्रगति तक ही सीमित है, जो बहुत हानिकारक है. वही, राजीव गांधी फाउंडेशन के चंदे का सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी को देश की संप्रभुता से कोई मतलब नहीं है. स्मृति ईरानी ने कहा कि राष्ट्र की बागडोर काबिल हाथों में हो तो संघर्ष सफलता में बदलता है. देश की कमान जनता के आशीर्वाद व कार्यकर्ताओं के प्रयास से राष्ट्र नायक नरेंद्र मोदी के हाथ में है.