रेलवे की बीडीयू का असर, पार्सल हब बन रहा भिवंडी

मुंबई. रेलवे में क्षेत्रीय और मंडल स्तर पर स्थापित बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट का सकारात्मक असर दिखने लगा है.माल और पार्सल लोडिंग को बढ़ावा देने के लिए हाल में ही मध्य रेल के भिवंडी रोड स्टेशन से माल ढुलाई शुरू की गई. कार्गो पार्सल ट्रेनों और माल गाड़ियों को हैंडल करने के लिए भिवंडी रोड रेलवे स्टेशन पर नया पार्सल-गुड्स शेड खोला गया.इस पहल को अच्छा प्रतिसाद मिला है. तीन सप्ताह की अवधि में शालीमार के लिए 3 पार्सल ट्रेनें गुवाहाटी और 2 पार्सल ट्रेनें किसान रेल से जुड़कर 3 पार्सल ट्रेनें दानापुर-पटना भेजी गईं.

भेजी गई 1315 टन सामग्री

नई नीति के कारण कई नए व्यवसाय आकर्षित हुए. इसके पहले डिस्पैच में 3,879 पैकेज में 86.85 टन पार्सल लोड किया गया. 27 सितंबर तक 8 पार्सल ट्रेनों को भिवंडी रोड स्टेशन से भेजा गया है,जिनसे 78,925 पैकेज यानि 1315.15 टन पार्सल थे.अज़ारा-गुवाहाटी पार्सल ट्रेन ने 15,648 पैकेज में 321.66 टन पार्सल के साथ रिकॉर्ड उच्चतम लोडिंग दर्ज की है.भिवंडी रोड स्टेशन से अब तक 1315.15 टन वजन वाले कुल 78,925 पैकेज भेजे गए हैं, जिसमें गोदरेज,ओनिडा,एलजी, बजाज,पारले-जी,हिंदुस्तान लीवर ,डेल-मोंटे जैसे लोकप्रिय ब्रांडों के फर्नीचर,रेफ्रिजरेटर, इलेक्ट्रॉनिक आइटम,खाद्य उत्पाद,दवाएं और सौंदर्य प्रसाधन आदि सामग्री शामिल हैं.गोदरेज अपने इलेक्ट्रॉनिक और अन्य उत्पादों की अधिकतम लोडिंग के साथ सबसे आगे रहा है,जिसके बाद ओनिडा और पार्ले-जी है. मध्य रेल के वसई-दिवा-पनवेल मार्ग पर स्थित भिवंडी उत्तर-दक्षिण रेलवे यातायात का कनेक्टिंग पॉइंट के जेएनपीटी पोर्ट को भी जोड़ता है.

 स्टेशन पर कई  सुविधाएं

50 से अधिक ट्रेनों के लिए हाल्ट और यात्रियों की सुविधा के लिए 5 प्लेटफार्म-खिड़कियां,वेटिंग हॉल, पीआरएस बुकिंग,स्टेशन पार्किंग  जैसी सुविधाएं इस स्टेशन पर हैं. पॉवरलूम के औद्योगिक शहर और वेयरहाउसिंग की वजह से अमेज़न,फ्लिपकार्ट,रिलायंस, स्नैपडील और फेडएक्स जैसी कई ई-कॉमर्स कंपनियों के भी माल गोदाम हैं.मध्य रेलवे के सीपीआरओ शिवाजी सुतार के अनुसार माल और पार्सल यातायात के लिए भिवंडी रोड स्टेशन के खुलने और मुंबई-ठाणे शहर की निकटता,ट्रकों और टेम्पो के लिए पर्याप्त पार्किंग स्थान की वजह से भिवंडी रोड को हाल्ट स्टेशन से कमर्शियल सेंटर में बदलने में ज्यादा समय नहीं लगेगा.