यातायात सुचारू रखने पुलिस का हाथ बटाएगा स्वतंत्र यातायात विभाग

अनिल चौहान 

भायंदर. शहर की यातायात व्यवस्था सुचारू रखने के लिए मीरा-भायंदर मनपा में स्वतंत्र यातायात विभाग गठित किया गया है. हालांकि यह विभाग यातायात पुलिस के साथ समन्वय स्थापित कर काम करेगा. स्वतंत्र यातायात विभाग के सक्रिय होने के बाद यातायात जाम से राहत मिलने की पक्की उम्मीद है. 

सड़कों, उनके किनारे और फुटपाथ पर कई तरह का कब्जा है. जगह-जगह गैरेज, फेरीवाले, कार वाशिंग सेंटर, सर्विस सेंटर, कार शोरूम, सेकंड हैंड गाड़िया की बिक्री, हल्के और भारी वाहनों की अवैध पार्किंग से यातायात व्यवस्था खराब होती जा रही है. यातायात जाम से आने-जाने में ज्यादा वक्त लगता है. वायु और ध्वनि प्रदूषण बढ़ता है. जाम में एम्बुलेंस के फंसने से मरीज की जान जाने का डर बना रहता है. शहर की बिगड़ती यातायात व्यवस्था को लेकर सभागृह नेता प्रशान्त दलवी ने भी पुलिस आयुक्त सदानन्त दाते को ज्ञापन दिया था.

15 सदस्यीय समिति भी गठित 

यातायात व्यवस्था सुचारू रखने के लिए मीरा-भायंदर मनपा ने स्वंतत्र यातायात विभाग स्थापित किया है. साथ कि अपनी अध्यक्षता में 15 सदस्यीय समिति भी गठित की है. इसमें मनपा और पुलिस अधिकारी, तहसीलदार, आरटीओ, हाइवे अथॉरिटी और सिग्नल यंत्रणा, लेन मार्किंग आदि ठेकदार शामिल हैं. स्वतंत्र यातायात विभाग मनपा के सिटी इंजीनियर और एक्जक्यूटिव इंजीनियर के नियंत्रण में काम करेगा.

कई काम करेगा स्वतंत्र विभाग

एक्जक्यूटिव इंजीनियर दीपक खांबित ने बताया कि स्ट्रीट फर्नीचर हटाना, दिशा दर्शक फलक लगाना, पार्किंग, नो पार्किंग और पार्किंग की जगह का नियोजन, ट्रैफिक वार्डन का नियोजन, जेब्रा क्रॉसिंग, दिशा दर्शक, लेन मार्किंग और गतिरोधक बनाना,रिक्शा-टैक्सी स्टैंड बनाना, ट्रक और बस टर्मिनल की जगह का नियोजन, पे-एन्ड पार्किंग जगह का नियोजन, सिग्नल यंत्रणा की देखभाल और मरम्मत, गैरज नीति को लागू करना तथा जब्त की गई वाहनों को रखने के लिए जगह मुहैया कराने का काम स्वतंत्र विभाग करेगा.