स्कूल-कॉलेज खोलने लायक परिस्थितियाँ नहीं : शिक्षा मंत्री

  • शैक्षणिक संस्थानों को विकास शुल्क नहीं वसूलने का निर्देश  

मुंबई. राज्य में कोरोना संक्रमण को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने स्कूल-कॉलेजों को फिलहाल न खोलने के संकेत दिए हैं. महाराष्ट्र के उच्च और तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने मंगलवार को कहा कि कोविड महामारी के मद्देनजर राज्य में स्थिति विद्यालयों और महाविद्यालयों में कक्षाओं की अनुमति देने के अनुकूल नहीं है. 

गौरतलब है कि राज्य में लॉकडाउन पहले ही 31 अक्तूबर तक बढ़ाया जा चुका है. दिल्ली सरकार पहले ही 31 अक्तूबर तक विद्यालय न खोलने का निर्णय कर चुकी है.  सामंत ने अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक के बाद यह जानकारी दी. 

कोचिंग संस्थान बंद ही रहेंगे

उन्होंने कहा कि स्कूल में बच्चों की उपस्थिति के साथ कक्षाओं का संचालन करना उपयुक्त नहीं है. ऑनलाइन कक्षाओं के साथ सरकार ने शैक्षणिक संस्थानों को विद्यार्थियों से विकास शुल्क नहीं वसूलने का भी निर्देश दिया है. महाराष्ट्र सरकार ने 30 सितंबर को जारी लॉकडाउन के दिशा- निर्देशों में कहा था कि राज्य में विद्यालय, महाविद्यालय और अन्य शैक्षणिक और कोचिंग संस्थान बंद ही रहेंगे. महाराष्ट्र में विद्यालय और महाविद्यालय मार्च में राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बाद से ही बंद हैं. महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले हैं, सोमवार तक महाराष्ट्र में कोविड-19 के 14,53,653 केस सामने आए. राज्य में 38,347 लोग इस महामारी से जान गँवा चुके हैं.