जंबो कोविड केअर में घट रही कोरोना मरीजों की संख्या, 40 % बेड्स खाली

सूरज पांडे

मुंबई. सितंबर में कोरोना के मामले बढ़ने के बाद एक बार नए मामलों में गिरावट देखने को मिल रही है. मनपा अधिकारियों की माने तो मुंबई के जंबो कोविड केअर सेंटर में लगभग 40 से 50 फीसदी बेड्स रिक्त पड़े हैं. अगस्त महीने में मुंबई में औसतन 1500 से भी कम कोरोना के नए मामले सामने आ रहे थे, लेकिन लॉकडाउन में छूट और त्योहारों के चलते सितंबर में एक बार फिर कोरोना के मामलों में रिकॉर्ड वृद्धि देखने को मिली.

अस्पतालों से लेकर जंबो कोविड केअर सेंटर में भी 70 से 80 फीसदी तक बेड्स मरीजों से भर गए. आईसीयू बेड्स की तो किल्लत भी होने लग गई थी, लेकिन मुंबई एक बार फिर कोरोना के नए मामलों में पिछले एक साप्ताह से गिरावट देखने को मिली है. नतीजतन जंबो कोविड केअर सेंटर में 40 से 50 फीसदी बेड्स अब रिक्त पड़े हैं.

मरीजों की संख्या घटी

 नेस्को स्थित कोविड केअर सेंटर की इंचार्ज डॉ. नीलम अंद्राडे ने कहा कि अक्टूबर के शुरुआती महीने में रोजाना 100 से 125 नए मरीज भर्ती हो रहे थे, लेकिन पिछले तीन दिनों से मरीजों की संख्या घट कर 70 से 80 पहुंच गई है. रविवार को मात्र 74 नए मरीज भर्ती हुए थे. हालांकि वेंटिलेटर अब भी फूल हैं. बीकेसी स्थित कोविड केअर सेंटर के इंचार्ज  डॉ. राजेश डेरे ने बताया कि हमारे पास 2100 बेड्स की क्षमता है जिसमें से 40 फीसदी बेड्स रिक्त पड़े हैं, लेकिन वेंटिलेटर बेड्स अब भी फूल है. वर्ली डोम स्थित कोविड केअर सेंटर में भी मरीजों की संख्या आधी हो गई है. इंचार्ज डॉ. नीता वार्ति ने बताया कि 7 अक्टूबर को हमारे पास कोरोना के लगभग 60 से 70 मरीज भर्ती हुए थे जबकि पिछले 3 दिन में 37 से 35 नए मरीज ही भर्ती हुए हैं. 

सभी के लिए यह अच्छे संकेत 

अतिरिक्त मनपा आयुक्त (स्वास्थ्य) सुरेश काकानी ने बताया कि मरीजों की संख्या कम हो रही है. सभी के लिए यह अच्छे संकेत है. जंबो कोविड केअर सेंटर में लगभग 50 फीसदी बेड्स रिक्त पड़े हैं. अगर यही पूरे अक्टूबर तक रहता है तो कोरोना को लेकर जो चिंता है वह थोड़ी कम हो जाएगी.