gopal shetty

मुंबई. उत्तर मुंबई के सांसद गोपाल शेट्टी ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए समाज और संस्थाओं को जोड़कर चिकित्सा के नए उपक्रम अत्यावश्यक सेवा के रूप में प्रारंभ किया था. कांदिवली (प.) में आचार्य प. नम्रमुनी महाराज के आशीर्वाद से पावनधाम जैन उपाश्रय को कोविड-19 केयर सेंटर में सांसद गोपाल शेट्टी ने तब्दील किया था. यह एक सफल चिकित्सा केंद्र साबित हुआ था.

जहां अस्पतालों में मरीजों की तादात बढ़ती जा रही थी, वहीं शेट्टी के ऐसे अस्पतालों की योजना से महाराष्ट्र सरकार के ऊपर बोझ हल्का हुआ था. लेकिन कुछ समय पूर्व कोरोना संक्रमण कम होने से मुंबई मनपा ने पत्र लिख कर इसे बंद करने का आदेश दिया था. उसके बाद गोपाल शेट्टी ने मनपा आयुक्त को 22 अगस्त को पत्र लिखकर ऐसे अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस कोविड केयर सेंटर की आवश्यकता को देखते हुए इसे बंद न करने और स्वयं चलाने का आग्रह किया था, लेकिन मनपा ने उनके आग्रह को नजरअंदाज कर दिया था. 

सांसद गोपाल शेट्टी का सार्थक प्रयास

अब स्थिति बदल गई है, एक बार फिर कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ी है. ऐसे में 17 सितंबर को मनपा आयुक्त ने पत्र लिखकर सांसद शेट्टी को पावनधाम कोविड केयर सेंटर पुनः शुरू करने के लिए कहा है. शेट्टी ने मनपा आयुक्त को इसके प्रत्युत्तर में 20 सितंबर को लिखे पत्र में कहा है कि पावनधाम  एक श्रेष्ठ सुविधा युक्त कोविड केयर सेंटर है और हमने पहले ही इसे स्वयं चलाने का निवेदन किया था. इसलिए सरकार द्वारा कोरोना मरीजों के लिए दी जाने वाली राशि की सुविधा पावनधाम के मरीजों के लिए भी दी जाए ताकि हमारे द्वारा स्थापित इस उपक्रम में नि:शुल्क कोरोना संक्रमण मरीजों का इलाज किया जा सके.