bus
Representational Pic

मुंबई. भारी आर्थिक संकट से गुजर रही एसटी के कर्मचारियों को बकाया वेतन दिए जाने की मांग को लेकर बीजेपी ने आंदोलन की चेतावनी दी है. विधापरिषद में विरोधी पक्ष नेता प्रविण दरेकर गुरुवार को एसटी कर्मचारियों की समस्या को लेकर व्यवस्थापकीय संचालक शेखर चन्ने से मिले. प्रवीण दरेकर ने कहा कि एसटीकर्मियों को पिछले कई माह से वेतन नहीं मिला है.कोरोना में जीवन की बाजी लगाकर एसटी कर्मचारियों ने काम किया है. 

आय 100 करोड़, वेतन 300 करोड़ बकाया

एमडी का कहना है कि एसटी की आय इस समय मासिक 100 करोड़ भी नहीं है,जबकि वेतन का 300 करोड़ रुपए बाकी है. कर्मचारियों के वेतन के लिए राज्य सरकार से मांग की गई है.3 माह से एसटी कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला है. प्रवीण दरेकर ने कहा कि यदि एक सप्ताह के अंदर कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला तो सरकार के खिलाफ चक्का जाम आंदोलन छेड़े जाने की चेतावनी विधायक राहुल नार्वेकर, कर्मचारी प्रतिनिधि चंद्रकांत राणे, मनोहर नारकर, बी.डी. पार आदि ने देते हुए परिवहन मंत्री के कार्यभार पर सवाल उठाया.

एसटी कर्मचारियों को 50 लाख का बीमा दिए जाने का भी निर्णय नहीं लिया गया. इस दौरान 43 कर्मचारियों की मौत हुई लेकिन उन कर्मचारियों के परिवार को राहत नहीं मिली. एसटी के लिए 2 हजार करोड़ मदद की मांग सरकार से की गई है,यदि 1हजार करोड़ तत्काल मिलता है  तभी एसटी गंभीर संकट से उबर सकती है.एसटी कर्मचारियों को दो माह का वेतन तुरंत दिए जाने की मांग प्रतिपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर ने की.