arrest

मुंबई. गोरेगांव पुर्व के आरे पुलिस ने लगभग 7 महीने बाद लूट की घटना को सुलझाने में सफलता पाई है. गिरफ्तार आरोपी रिक्शा चालक है जिसका नाम ओमप्रकाश तिवारी (45) बताया गया है.साथ ही उसके द्वारा लूटे गए सामानों को ठिकाने लगाने वाले उसके साथी संजीव मिश्रा (48) को भी गिरफ्तार किया है.

आरे पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, 7 मार्च 2020 को एक महिला ने खुद को एक रिक्शा चालक द्वारा लूट लिए जाने की शिकायत दर्ज कराई. महिला का आरोप था कि उसने मीरा रोड से कुर्ला टर्मिनस जाने के लिए रिक्शा पकड़ी थी. आरे कॉलोनी से गुजरते समय प्यास लगे होने के बहाने तिवारी ने एक जगह रिक्शा रोकी. उसी दौरान उसने उस महिला को बहाने से कोल्डड्रिंक में नशे की सामग्री मिलाकर पीने के लिए दिया. कोल्डड्रिंक पीने के बाद बेहोशी की हालत में महिला को रोड किनारे छोड़ कर तिवारी रिक्शा लेकर फरार हो गया. शिकायत दर्ज कराते समय महिला ने पुलिस को बताया कि उसके बैग में 80 हजार रूपये के अलावा मोबाइल फोन और अन्य कीमती सामान भी थे. 

आदतन अपराधी है आरोपी 

पुलिस ने मीरा रोड में जहां से महिला ने रिक्शा पकड़ी थी वहां से लेकर आरे कॉलोनी में घटना स्थल तक सीसीटीवी चेक किया पर रिक्शे का नंबर ढूँढने में असमर्थ रही. पर पुलिस को उस पतपेढी का रिक्शा के पीछे लिखा नाम दिखा जो पता करने पर खार का निकला. उक्त पतपेढी से मिली जानकारी के आधार पर रिक्शा चालक को पुलिस ने खार के उसके घर से गिरफ्तार कर लिया. 14 अक्टूबर 2020 को हुई इस गिरफ्तारी के बाद आरे पुलिस ने तिवारी के पास से 15 हजार रुपए तथा उसके साथी मिश्रा के पास चोरी के 2 मोबाइल बरामद किया है. आरे पुलिस को यह भी जानकारी मिली है की तिवारी पर वालीव पुलिस स्टेशन में 2 एफआईआर के अलावा 2015 में ही कुर्ला पुलिस स्टेशन में लूट और अन्य मामलों में एफआईआर दर्ज हैं. आरे पुलिस आगे मामले की जांच कर रही है.