महाराष्ट्र को बदनाम करने ली गई थी सुपारी

  • गृहमंत्री देशमुख का बीजेपी पर बड़ा हमला
  • पूछा, क्या फडणवीस बिहार में गुप्तेश्वर पांडेय का करेंगे प्रचार

मुंबई. अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मामले में एम्स अस्पताल की फोरेंसिक रिपोर्ट के बाद महाविकास आघाड़ी सरकार के घटक दल आक्रामक हो गए हैं. शिवसेना, कांग्रेस के बाद अब राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने भाजपा का नाम न लेते हुए बड़ा हमला किया है. उन्होंने कहा कि सुशांत की आड़ में छत्रपति शिवाजी महाराज के महाराष्ट्र को बदनाम करने का प्रयास किया गया. बदनाम करने की सुपारी एक राजनीतिक दल ने ली थी. देशमुख ने यह भी सवाल किया है कि महाराष्ट्र को बदनाम करने वाले बिहार के पूर्व पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय का चुनाव प्रचार पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस करेंगे क्या?

 

मंत्रालय में पत्रकार परिषद को संबोधित करते हुए गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि यह सिध्द हो चुका है कि महाराष्ट्र को बदनाम करने का काम किया गया. अब उन सभी को आम जनता से माफी मांगनी चाहिए.हालांकि जनता ऐसे लोगों को माफ नहीं करेगी. 

अब सभी की निगाहें सीबीआई की जांच रिपोर्ट पर टिकी 

उन्होंने कहा कि एम्स की रिपोर्ट सार्वजनिक हो चुकी है.एम्स और कूपर की विसरा रिपोर्ट में विष का अंश नहीं मिला है.पूरे मामले की जांच सीबीआई कर रही है. अब सभी की निगाहें सीबीआई की जांच रिपोर्ट पर टिकी हुई है.उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि सीबीआई जांच रिपोर्ट में भी यह आत्महत्या ही सिद्ध होने वाली है.

गुप्तेश्वर पांडेय ने महाराष्ट्र और मुंबई की बदनामी की

गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि बिहार के पूर्व पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने महाराष्ट्र और मुंबई की बदनामी की है. वे अब बिहार में चुनाव लड़ रहे हैं. देशमुख ने सवाल उठाया है कि महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के बिहार चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस अब उनका प्रचार करने जाएंगे क्या? 

महाराष्ट्र पुलिस को माफिया कहने में गुरेज नहीं किया 

पत्रकार परिषद में गृहमंत्री अनिल देशमुख ने सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत के मामले में अमेरिका के एक विश्वविद्यालय की तरफ से तैयार किये गए रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि सुशांत मामले को एक राजनीतिक दल अलग दिशा में ले गया. मीडिया ने इसे हवा दी. उन्होंने भाजपा का नाम न लेते हुए कहा कि एक राजनीतिक दल ने इस प्रकरण की सुपारी ली. भाजपा नेताओं ने महाराष्ट्र पुलिस को माफिया कहने में भी किसी तरह का गुरेज नहीं किया. 5 वर्ष तक मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र का नेतृत्व करने वाले देवेंद्र फडणवीस ने भी कहा था पुलिस की जांच सही दिशा में नहीं है. कोरोना के खिलाफ चल रहे संघर्ष के बीच महाराष्ट्र को बदनाम करने का षडयंत्र किया गया.

अनिल देशमुख पर बीजेपी का पलटवार

इस बीच, भाजपा ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत मामले में गृहमंत्री अनिल देशमुख के आरोपों को खारिज करते हुए पलटवार किया है. भाजपा विधायक अतुल भातखलकर ने आरोपों को सिध्द करने की चुनौती देते हुए माफी मांगने की मांग की है.  भाजपा विधायक अतुल भातखलकर ने ट्वीट कर कहा है कि गृहमंत्री अनिल देशमुख राज्य में महाविकास आघाड़ी नामक सर्कस के जोकर हैं. इसके पहले उन्होंने भाजपा सरकार पर फोन टेपिंग का आरोप लगाया था, जिसे वे सिद्ध नहीं कर पाए. अब उन्होंने सुशांत मामले में फर्जी अकाउंट का आरोप लगाया है. भातखलकर ने कहा है कि आरोप सिद्ध करिए या जनता से मांफी मांगिए.

भाजपा पर गलत राजनीतिक आरोप लगाया

भातखलकर ने कहा है कि गृहमंत्री अनिल देशमुख ने हमेशा की तरह भाजपा पर गलत राजनीतिक आरोप लगाया है, जिसकी हम निंदा करते हैं. जो भी जांच करना है करो. भाजपा या देवेंद्र फडणवीस ने कभी कोई गैर कानूनी कार्य नहीं किया है. यही नहीं अतुल भातखलकर ने यह भी कहा कि राज्य के इतिहास में इस तरह का गृहमंत्री नहीं देखा है. जो केवल राजनीतिक फायदे के लिए काम करे. गृहमंत्री अनिल देशमुख ने पत्रकार परिषद का आयोजन कर अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में महाराष्ट्र को बदनाम करने का आरोप लगाया है. इस मामले में देशमुख ने भाजपा पर हमला करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को घेरने का प्रयास किया है.