sex-racket
File Photo

    नागपुर. लकड़गंज पुलिस ने 3 दिन पहले गंगा-जमुना परिसर में आकस्मिक जांच की. इस दौरान 1 युवती पुलिस के हाथ लगी. पूछताछ करने पर उसने अपनी उम्र 22 वर्ष बताई और कहा कि वह 2 बच्चों की मां है. संदेह होने के कारण पुलिस ने उसे अपने कब्जे में लिया. विश्वास में लेकर पूछताछ करने पर उसने सच बता दिया.

    इसी दौरान मध्यप्रदेश की देवास पुलिस भी नागपुर पहुंच गई और अपहरण का मामला सामने आया. बताया जाता है कि किशोरी की उम्र महज 14 वर्ष है. वह 7 वर्ष की थी जब अज्ञात आरोपियों ने उसका अपहरण कर लिया. उसके साथ 2 और बच्चियों का भी अपहरण किया गया था. पहले उन्हें राजस्थान ले जाया गया. 3 वर्ष तक पीड़ित किशोरी को वहां बंधक बनाकर रखा गया. बाद में उसे नागपुर के गंगा-जमुना में भेजा गया. 4 वर्ष से आरोपी उससे देह व्यवसाय करवा रहे थे.

    इसी दौरान कुछ जानकारी हाथ लगने पर देवास पुलिस ने राजस्थान में छापेमारी की. वहां पीड़िता की बहन भी मिली. उससे पूछताछ में पीड़िता के नागपुर में होने का पता चला. देवास पुलिस भी नागपुर पहुंच गई और बताया कि इस संबंध में अपहरण का मामला दर्ज किया गया था. किशोरी को देवास पुलिस के हवाले किया गया.