arrest

नागपुर. शुक्रवार की शाम वाठोड़ा थानांतर्गत सेनापतिनगर में हुई यश मधुकर ठाकरे (19) की हत्या के मामले में अजीबो-गरीब जानकारी सामने आई है. करोड़पति बनने पर हिस्सा नहीं दूंगा कहने पर 2 दोस्तों ने अपने साथी को मौत के घाट उतार दिया. क्राइम ब्रांच के यूनिट 4 ने इस प्रकरण में दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. पकड़े गए आरोपियों में बड़ा ताजबाग निवासी अली इम्तियाज मुख्तार अली (21) और गौसिया कालोनी निवासी शेख आसिम उर्फ गोलू शेख राशिद (24) का समावेश है.

यश और आरोपी आपराधिक प्रवृत्ति के बताए गए. उन्हें नशे की भी लत है. उनपर चोरी और लूटपाट के मामले दर्ज है. उठाईगिरी में जो रकम हाथ लगती थी तीनों आपस में बराबर बाट लेते थे. पिछले कुछ दिनों से यश को ‘कौन बनेगा करोड़पति’ के रिकार्डेड कॉल आ रहे थे. उसने इस बारे में इम्तियाज और आसिम को बताया.

दोनों ने कहा कि तू करोड़पति बन गया तो रकम आपस में बाटेंगे. यश ने इस बात से इंकार कर दिया. 2 दिन से उनके बीच इसी बात को लेकर विवाद चल रहा था. शुक्रवार की शाम 5.30 बजे के दौरान दोनों आरोपी उसे बाइक पर सेनापतिनगर के मैदान में ले गए. वहां तीनों ने जमकर गांजा फूंका. नशा होने पर फिर उसी बात को लेकर विवाद हुआ.

इम्तियाज और आसिम ने धारदार हथियार से उसके सिर, छाती और गर्दन पर वार कर मौत के घाट उतार दिया. वाठोड़ा पुलिस ने मामला दर्ज किया. क्राइम ब्रांच यूनिट 4 के इंस्पेक्टर अशोक मेश्राम, एपीआई किरण चौगले, एएसआई बट्टूलाल पांडेय, हेड कांस्टेबल देवेंद्र चौहान, अजय रोड़े, कृपाशंकर शुक्ला, आशीष क्षिरसागर, सचिन तुमसरे, दीपक झाड़े और श्रीकांत ने दोनों को मोमिनपुरा की बकरामंडी परिसर से गिरफ्तार कर लिया.