rahul-gandhi

नागपुर. यूपी सरकार ने धर्म और कानून दोनों के खिलाफ जाकर परिजनों से उसकी बेटी के अंतिम संस्कार का अधिकार छीनकर मानवीय और लोकतांत्रिक मर्यादाओं को पूरी तरह तार-तार कर दिया है. हाथरस में पिड़िता के परिवार से मिलने जा रहे कांगेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी को रोके जाने का विरोध करते हुए युवक कांग्रेस ने शहर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला जलाकर विरोध दिखाया.

14 सितंबर को हाथरस जिले में 19 वर्षीय एक दलित युवती के साथ 4 अपराधियों ने दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया जिसकी पूरे देश में निंदा की जा रही है. 29 सितंबर की देर रात उसकी मौत हो गई. यूपी पुलिस ने बुधवार की देर रात जबरदस्ती उसका अंतिम संस्कार किया जिसका विरोध हो रहा है. विरोध प्रदर्शन के समय महाराष्ट्र प्रदेश युवक कांग्रेस उपाध्यक्ष कुणाल राऊत के साथ प्रदेश महासचिव अजित सिंह, प्रदेश सचिव आसिफ शेख, प्रदेश मायनोरिटी महासचिव असद खान, युवक कांग्रेस उपाध्यक्ष धीरज पांडे, ब्लॉक अध्यक्ष सुरेश पाटिल, उत्तर नागपूर महिला अध्यक्ष विजया हजारे आदि उपस्थित थे.

संघर्ष जारी रखें राहुल
योगी सरकार द्वारा उत्तरप्रदेश में राहुल और प्रियंका गांधी की अवैध गिरफ्तारी व हाथरस की बेटी के साथ हुए अन्याय के विरोध में महाराष्ट्र प्रदेश युवक कांग्रेस अध्यक्ष सत्यजीत तांबे के अदेशानुसार प्रदेश महासचिव तनवीर अहमद विद्रोही, सचिव रौनक चौधरी नेतृत्व में युवक कांग्रेस द्वारा उमरेड रोड हाइवे पर चक्काजाम और विरोध प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री योगी का पुतला दहन किया गया. उन्होंने राहुल गांधी से अन्याय के खिलाफ संघर्ष जारी रखने की मांग की. इस मौके पर प्रदेश सचिव अफजल शाह, शहर महासचिव व प्रवक्ता शाहिद खान, शहर महासचिव सुमित ढोलके, मध्य नागपुर उपाध्यक्ष आकाश चौरिया, कार्यकर्ता व पदाधिकारी उपस्तिथ रहे.

मॉडल मिल चौक पर प्रदर्शन
अखिल भारतीय युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव नगरसेवक बंटी बाबा शेलके के मार्गदर्शन में शहर अध्यक्ष तौसीफ खान के नेतृत्व मे राहुल गांधी पर यूपी पुलिस द्वारा लाठियां बरसाने की कोशिश के विरोध में गणेशपेठ मॉडल मिल चौक में भाजपा कार्यालय के सामने प्रधानमंत्री मोदी और योगी आदित्यनाथ का पुतला जलाया. योगी सरकार की तानाशाही राहुल गांधी की गिरेवान पर आ चुकी है जिसका युवा कांगेस निंदा करती है. आंदोलन में युवक कांग्रेस प्रदेश सचिव वसीम शेख, प्रदेश सचिव सागर चव्हान, प्रदेश अल्पसंख्यक सचिव इरफान काजी, मध्य नागपुर अध्यक्ष स्वप्निल ढोके, पूर्व नागपुर अध्यक्ष अक्षय घाटोल, ग्रामीण अध्यक्ष राहुल सीरिया, आकाश गुजर, हेमंत कातुरे, मोइस खान, ने प्रदर्शन में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया.

भाजपा की ओछी राजनीति : कोटेचा
राहुल गांधी को हाथरस की पिड़िता के परिवार से मिलने पर रोक लगाना और पुलिस द्वारा उनका कॉलर पकड़कर उनके साथ धक्कामुक्की कर भाजपा ने ओछी राजनीति का उदाहरण प्रस्तुत किया है. महाराष्ट्र प्रदेश कांगेस कमेटी के सचिव अतुल कोटेचा ने इस घटना की कड़ी निंदा की है. उन्होंने कहा कि गांधी-नेहरू परिवार को यूपी ने काफी सम्मान प्राप्त है. उनके परिवार के राष्ट्रीय नेता पर इस प्रकार की घटना अशोभनिय है. वहीं मनपा के विरोधी पक्ष के नेता तानाजी वनवे ने भी यूपी पुलिस और सरकार का विरोध किया है.

जिलाधिकारी कार्यालय में सौंपा ज्ञापन
दुष्कर्म के बाद युवती की मौत से पूरा हिन्दू समाज स्तब्ध है और ऐसी घटनाओं पर आरोपियों को फांसी की सजा होनी चाहिए. इसके मद्देनजर विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल, सुदर्शन समाज महासंघ व वाल्मीकि समाज महासंघ की ओर से जिलाधिकारी कार्यालय में बजरंग दल जिला संयोजक रिषभ अरखेल के नेतृत्व में ज्ञापन दिया गया. मौके पर सुदर्शन समाज महासंघ प्रदेश महासचिव अविनाश डेलिकर, वाल्मीकि समाज महासंघ प्रान्त प्रवक्ता दिनेश बिल्लरवान, सह संयोजक आशु पौनिकर, रोहन बिल्लरवान, अजित खरे, रोहित अरखेल, कौशिक शिवरकर, अतुल पाटिल आदि सामाजिक कार्यकर्ता उपस्थित थे.

महिला कांगेस ने दी श्रद्धांजलि
हाथरस की घटना को लेकर नागपुर शहर महिला कांग्रेस ने सक्करधरा में गांधी पुतला पर कैंडल जलाकर निर्भया को श्रद्धांजलि अर्पित की. नागपुर शहर की महिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रज्ञा बडवाइक ने कैडलम मार्च का नेतृत्व किया, जिसमें संगीता उपरिकर, अर्चना सिडम, शालिनी सरोदे, बेबी गाडेकर, भारती कामडी, रेखा काटोल, प्रमिला धने, सुनीता मेहर, ज्योती धोके व अनेक महिला कार्यकर्ता शामिल रही.