CJI Bobde

  • सुको के मुख्य न्यायाधीश बोबडे करेंगे उद्घाटन
  • 31 अक्टूबर को आनलाईन कार्यक्रम

नागपुर. देश की न्याय व्यवस्था में सिटी द्वारा अबतक कई तरह से अहम योगदान दिया गया है. इसी श्रृंखला में अब देश की सेवा में पहला आधुनिक ई-रिसोर्स सेंटर भी यहीं शुरू होने जा रहा है. सिविल लाइन्स स्थित न्यायीक अधिकारी प्रशिक्षण केंद्र में नियोजित इस सेंटर का उद्घाटन 31 अक्टूबर को देश के मुख्य न्यायाधीश शरद बोबडे के हाथों होगा.

सुको के न्यायाधीश भूषण गवई और मुंबई उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता सहित कई न्यायाधीश उपस्थित रहेंगे. सोमवार को न्यायाधीश सुनील शुक्रे की अध्यक्षता में हाईकोर्ट सभागृह में बैठक हुई. जहां इसकी घोषणा की गई. बैठक में जिलाधिकारी रवीन्द्र ठाकरे, मनपा आयुक्त राधाकृष्ण.बी., हाईकोर्ट प्रबंधक अंजू शेंडे, अति. आयुक्त राम जोशी, पीडब्ल्यूडी कार्यकारी अभियंता भानुसे, बीएसएनएल के महाव्यवस्थापक पानेकर, सह प्रबंधक पी.एस. जिकार उपस्थित थे.

सुप्रिम कोर्ट के लिए कर सकेंगे ई-फाइलिंग

बताया जाता है कि इस रिसोर्स सेंटर का उपयोग न केवल हाईकोर्ट की कार्यप्रणाली के लिए होगा, बल्की सर्वोच्च न्यायालय में ई-फाइलिंग और ई-हियरिंग (आनलाईन सुनवाई) करने के लिए भी उसका उपयोग होगा. आम तौर पर अबतक हाईकोर्ट की मुख्य पीठ तथा सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर करने तथा सुनवाई के लिए वकीलों को सुको जाना पड़ता था. किंतु अब इस रिसोर्स सेंटर से ही सुविधा उपलब्ध होगी. जिससे कई समस्याएं हल हो सकेगी. बताया जाता है कि सेंटर में न्यायीक प्रक्रिया के लिए आवश्यक अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध होगी. इस तरह का देश का यह पहला सेंटर होगा. कोविद प्रोटोकाल का पालन कर कार्यक्रम का आयोजन होगा.