File Photo
File Photo

  • प्रशासन की लापरवाही से जनता हलाकान

नागपुर. पारडी की सड़कों के तरह कलमना मार्केट की सड़क भी जानलेवा हो गई है. जलजमाव और सड़कों को हालत पैदल चलने के लायक भी नहीं बची है. डिप्टी सिग्नल रोड से लेकर कलमना मार्केट रोड़ तक सड़क का एक हिस्सा इतनी बूरी तरह खराब हो चुका है कि वहा से गुजरने पर लोगों को कमर में दर्द होना तय है.

इस मार्ग पर सड़क पर सैकड़ों गहरे गड्ढें हो गए हैं. यह परिस्थिति एक-दो महीनों से नहीं बल्कि करीब 2 वर्ष से भी अधिक समय से बनी है. गड्ढों के कारण कई नागरिक इस मार्ग से जाने के बाजाए लंबा फेरा लेकर पर्यायी मार्ग से जाना पसंद करते है. वर्धमान नगर से लेकर कलमना रेलवे क्रासिंग और डिप्टी सिग्नल से लेकर कलमना मार्केट रोड तक यही परिस्थिति है. गड्ढों के कार स्थानीय नगारिक परेशान हो चुके हैं. बावजूद इसके संबंधित विभाग मरम्मत का काम नहीं कर रहा है.

हर दिन हो रहे छोटे मोटे हादसे
इस परिसर में सड़क निर्माण का कार्य पिछले करीब 4 वर्षो से चल रहा है. बावजूद इसके अब तक एक भी मार्ग पर सड़क के सीमेंटीकरन का कार्य पूरा नहीं हो पाया है. कलमना चौक से ठीक पहले पारडी फ्लाईओवर की लैंडिंग की है. काम बंद होने के कारण पर्यायी सड़क पूरी तरह खराब हो चुकी है.

भारी वाहनों की आवाजाही के कारण सड़क पर इतने गड्ढें हो गए है कि टू व्हीलर वाहनों का गुजना मुश्किल हो गया है. गहरे गड्ढें होने के कारण कारों समेत अन्य वाहनों को भारी नुकसान हो रहा है. यहां तो एक साइड की सड़क पूरी तरह गायब हो गई है. किचड़ और खराब सड़के से जाने के बजाए छोटे वाहन चालक अपनी जान खतरे में डालकर रॉग साइड वाहन डाल रहे है. परिणाम हर दिन इस स्पॉट पर छोटे मोटे हादसे रहे है.

सड़क का भी काम बंद
इसके अलावा परिसर में कई मार्गो पर एक साथ सड़कों के सीमेंटीकरण का काम जारी है. धिमी गति से चल रहे निर्माण कार्य की कारण पर्यायी मार्ग की व्यवस्था पूरी तरह चर्मरा गई है. नई सड़क बनने तक ठेकेदार को पर्यायी सड़क की व्यवस्था करनी होती है. अधिकतर मार्ग पर सड़क का केवल 50 प्रतिशत ही काम पूरा हुआ है.

आधा सीमेंट रोड तो बन गया है लेकिन आधे का काम पिछले कई महीनों से बंद है. सड़क निर्माण के लिए सड़क की खोदाई की गई थी. काम बंद होने से बारिश में आधी सड़क पर तालाब की स्थिति बन जाती है. वहीं गंदगी के कारण परिसर में अन्य बीमारियों का खतरा बढ गया है. बाजार के कारण सड़कों पर गंदगी फैली रहती है.