Jijau Mata Yojna

    नागपुर. इन दिनों सोशल मीडिया वाट्सएप द्वारा एक मैसेज वायरल हो रहा है जिसमें कहा गया है कि कोरोना संकटकाल में 1 मार्च 2020 से 28 फरवरी 2021 के बीच किसी के घर में 21 से 70 वर्ष आयु के किसी पुरुष सदस्य का निधन हो गया है तो उसकी विधवा को महिला व बाल विकास विभाग की ओर से चलाई जाने वाली जिजामाता-जिजाऊ योजना के तहत 50,000 रुपये मिलेंगे.

    विभाग ने इस पोस्ट को फेक (झूठा) बताया है. विभाग के उपायुक्त ने जिला स्तरीय अधिकारियों को पत्र द्वारा सूचना दी है कि इस तरह के फेक पोस्ट द्वारा नागरिकों के साथ धोखाधड़ी किए जाने की आशंका है. जिले के नागरिकों से जिला महिला व बाल विकास अधिकारी अपर्णा कोल्हे ने अपील की है कि वे ऐसे किसी मैसेज के बहकावे में नहीं आएं.