congress-2

  • केंद्र की नीति का किया विरोध

नागपुर. पेट्रोल के दाम में बेहताशा वृद्धि ने लोगों की कमर तोड़ दी है. कोरोना संकट की वजह से आर्थिक संकट गहरा गया है. दूकानें बंद हैं. रोजगार छिन गया. कमाई से स्त्रोत भी कम हो गये. लोगों के लिए दो वक्त की रोटी का इंतजाम करना मुश्किल हो गया है. इन परिस्थितियों में राहत देने की बजाय सरकार पेट्रोल के दाम बढ़ाकर लोगों के जले पर नकम छिड़कने का काम कर रही है. केंद्र की नीति के खिलाफ शहर कांग्रेस कमेटी की ओर से प्रदर्शन किया गया.

संगठन सचिव रोहित रामविलास यादव ने बताया कि पेट्रोल के दाम में वृद्धि से भविष्य में परिवहन से जुड़ी अन्य सेवाओं की कीमत बढ़ेगी. यानी महंगाई कम होने की बजाय और बढ़ेगी. संकट के दौर में भी केंद्र सरकार लोगों को लूटने का काम रही है. 100 रुपये लीटर पेट्रोल होने से लोगों का बजट गडबड़ा गया है. ऐसे वक्त सरकार को तो कीमतें कम कर जनता को राहत देना था लेकिन स्थिति विपरीत बनी हुई है. प्रदर्शन में विक्की शर्मा, सचिन यादव, कपिल अरखेल, प्रकाश पटले, रोहित बिनकर उपस्थित थे.