Nitin gadkari

  • सीमेंट रोड का निर्माण हुआ शुरू
  • 53.10 करोड़ के टेंडर को मंजूरी
  • 62.95 करोड़ को मिली है प्रशासकीय मंजूरी

नागपुर. मनपा के महत्वाकांक्षी प्रकल्प आरेंज सिटी स्ट्रीट को लेकर लंबे समय से भले ही कोई हल ना निकला हो, लेकिन अब केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की नजर में योजना प्राथमिकता में आने के बाद अब इसकी जिम्मेदारी मेट्रो रेल कार्पोरेशन को सौंपी गई. यहां तक कि आरेंज सिटी स्ट्रीट के पहले वर्धा रोड पर होटल रेडीसन ब्ल्यू चौक से लेकर जयताला चौक तक 53,10,81,709 रु. की लागत से सीमेंट रोड के निर्माण को लेकर प्रकल्प विभाग की ओर से प्रस्ताव तैयार किया गया. जिसे स्थायी समिति की ओर से तत्काल मंजूरी प्रदान की गई. यहां तक कि कार्यादेश दिए जाने के बाद सीमेंट रोड का निर्माण भी शुरू किया गया. सीमेंट रोड के निर्माण को लेकर मंगाए गए टेंडर के अनुसार मेसर्स मधुकान प्रोजेक्ट्स लि. कम्पनी की ओर से 52,58,24,000 रु. का टेंडर भरा था. जिसके लिए पहले ही 62,95,92,572 रु. के प्रस्ताव को प्रशासकीय मंजूरी भी प्रदान की गई है.

मेट्रो मॉल का गति से निर्माण

सूत्रों के अनुसार आरेंज सिटी स्ट्रीट योजना में अब मेट्रो मॉल को भी शामिल किया गया है. मेट्रो माल के निर्माण की जिम्मेदारी भी मेट्रो रेल कार्पोरेशन को ही सौंपी गई है. हालांकि आरेंज सिटी स्ट्रीट योजना में निधि को मनपा की लगेगी, किंतु निर्माण की जिम्मेदारी मेट्रो की होगी. जिसके लिए निधि की कमी ना हो, इसकी सभी को हिदायतें दी गई है. किंतु मनपा के वित्तिय स्थिति को देखते हुए प्रकल्प को कहां तक गति रहेगी, यह कह पाना मुश्किल है. बहरहाल फिलहाल आरेंज सिटी स्ट्रीट की योजना में सर्वप्रथम सीमेंट रोड का निर्माण शुरू किया जा चूका है. बताया जाता है कि सीमेंट रोड का निर्माण पूरा होने के बाद आगे की योजना पर अमल किया जाएगा. जिसमें कई तरह की विकास की योजना है.

अब टूकड़ों में होगा निर्माण

उल्लेखनीय है कि लंदन स्ट्रीट की तर्ज पर ही आरेंज सिटी स्ट्रीट का निर्माण किया जाना था. लगभग 10 वर्ष पूर्व इसकी योजना तैयार की गई थी. योजना में सर्वप्रथम राष्ट्रीय स्तर पर टेंडर मंगाए गए थे. 5 हजार करोड़ से अधिक की योजना होने से टेंडर में कोई भी कम्पनी आगे नहीं आ सकी. जिसके बाद ग्लोबल टेंडर भी मंगाए गए, किंतु इसे भी उचित प्रतिसाद नहीं मिला. जिससे अब मनपा ने इसे टूकड़ों में तैयार करने की योजना बनाई है. जिसमें ईडब्ल्यूएस आवास योजना, अस्पताल की योजना, होटल और अन्य इकाईयों का निर्माण किया जाना है. बताया जाता है कि प्रत्येक इकाई के लिए अब अलग-अलग टेंडर की प्रक्रिया की जाएगी.