Land Mafia
Representational Pic

  • भूमाफियाओं के खिलाफ डीसीपी नुरूल हसन ने कसी कमर

नागपुर. अन्य जोन की तुलना में परिमंडल 1 में आपराधिक गतिविधियां कम है, लेकिन जमीन से जुड़ी शिकायतें रोजाना आती है. सफेदपोश अपने रुतबे के चलते कमजोर लोगों को दबाने का प्रयास करते है. जमीन पर अवैध कब्जा जमा लेते है. पदभार संभालने के बाद ऐसे मामलों की जानकारी मिली. पुलिस की जिम्मेदारी है कि समाज के हर तपके को न्याय दिलाए. मेरी नागरिकों से अपील है कि किसी भी तरह की समस्या होने पर वें सीधे संपर्क कर सकते है.

जोन 1 के डीसीपी नुरुल हसन ने चर्चा के दौरान बताया कि विभाग के मुखिया सीपी अमितेश कुमार के सख्त आदेश है कि शहर में कोई भी अवैध काम नहीं चलने चाहिए. पुलिस अपराधियों की कमर तोड़ने पर जुट गई है. सभी अवैध धंधों पर कार्रवाई की जा रही है. विशेषतौर पर जमीन से जुड़े मामलों में नागरिकों को न्याय दिलाने का प्रयास किया जा रहा है. यदि पुलिस स्टेशन में सुनवाई न हो तो नागरिक सीधे अपनी शिकायतें आला अधिकारियों तक पहुंचा सकते है. हर शिकायत पर पुलिस कार्रवाई करेगी.

गृहमंत्री के निर्देश पर अपराधियों और भूमाफियाओं के खिलाफ विशेष शिकायत निवारण शिबिर भी आयोजित किए गए है. हम पूरी तत्परता से काम करने के लिए कटिबध्द है. कानून के सामने कोई बड़ा और छोटा नहीं है. हिंगना, एमआईडीसी और वाड़ी पुलिस थाने में कई ग्रामीण इलाके भी आते है. वहां की समस्याएं अलग है. बाहरी इलाकों में भी विशेष ध्यान दिया जाएगा.

हसन मूलत: उत्तर प्रदेश के सितारगंज के निवासी है. बीटेक की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने परमाणु उर्जा विभाग में बतौर वैज्ञानिक काम किया. इसी दौरान सिविल सर्विसेस में जाने का निर्णय लिया और अपनी बैच में सबसे उत्कृष्ट अंक लेने के बाद उनका 2015 आईपीएस बैच में सिलेक्शन हुआ. इसके पहले नांदेड़ और यवतमाल में उनके कार्यों की सराहना आज भी की जाती है.