Without Mask Fine

नागपुर. हजारों लोगों के खिलाफ अब तक सिटी में मास्क नहीं पहनने के कारण कार्रवाई हो चुकी है लेकिन बावजूद इसके अनेक गैरजिम्मेदार नागरिक हैं जो सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं. दरअसल, कोरोना का संक्रमण कम होने के बाद अब फिर तेजी से बढ़ने लगा है और उससे मरने वालों की संख्या भी बढ़ने लगी है. दोबारा कहर बढ़ता देख नागरिकों को मास्क लगाने के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग की अपील की जा रही है लेकिन कई ऐसे हैं जो सुनने को तैयार नहीं हैं. शनिवार को भी मनपा के एनडीएस दस्तों ने कई इलाकों में 162 लोगों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई कर 500-500 रुपये वसूल किये. 162 लोगों से 81000 रुपये का जुर्माना वसूल किया गया.

अब तक 21 हजार

शहर में लोगों को घर से बाहर निकलने पर मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है. जो मास्क नहीं लगाता उसके खिलाफ 500 रुपये दंड की कार्रवाई की जा रही है. 4 सिंतबर से अब तक सिटी के करीब 21000 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जा चुकी है लेकिन लोग समझने को तैयार नहीं हो रहे हैं. दीवाली उत्सव के दौरान बाजारों में भीड़ की गई और दूकानों में कोविड-19 के नियमों का घोर उल्लंघन किया गया. इसी का परिणाम है कि अब कोरोना के मरीजों की संख्या फिर बढ़ने लगी है. 

2000 रुपये हो जुर्माना

अनेक सजग नागरिकों का कहना है कि सिटी में जो लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं उन पर 2000 रुपये का दंड ठोका जाना चाहिए. मनपा आयुक्त ने पहले 200 रुपये दंड लगाने का आदेश दिया था लेकिन इसका कोई असर नहीं होने पर उसे बढ़ाकर 500 रुपये किया गया. बावजूद इसके लोग सुधर नहीं रहे हैं. दिल्ली सरकार ने तो अब 2000 रुपये जुर्माना कर दिया है, उसी तर्ज पर सिटी में भी मास्क नहीं लगाने वाले गैरजिम्मेदार लोगों के खिलाफ दंड की राशि अब बढ़ा देनी चाहिए.