NMC

  • अर्थ डे नेटवर्क द्वारा सम्मान

नागपुर. पुर्णिमा दिवस के असर पर ऊर्जा बचत का संदेश देनेवाली नागपुर महानगर पालिका को अर्थ डे नेटवर्क इंडिया की ओर से ऊर्जा बचत वर्ग में स्टार म्युनिसिपल लीडरशीप अवार्ड से सम्मानित किया गया. मनपा द्वारा ग्रीन विजिल फाऊंडेशन के सहयोग से शुरू किए गए उपक्रम को संस्था द्वारा गंभीरता से लिया गया. मनपा की इस सफलता के लिए महापौर संदीप जोशी और आयुक्त राधाकृष्णन बी ने सभी स्वयंसेवक और मनपा कर्मचारियों का अभिनंदन किया.

उल्लेखनीय है कि शहर में तत्कालीन महापौर अनिल सोले के मार्गदर्शन में वर्ष 2014 से ऊर्जा बचत का उपक्रम चलाया जा रहा है. विशेषत: पुर्णिमा की रात में अनावश्यक बल्ब बंद करने की अपील लोगों से की जाती है. जिसमें रात 8 से 9 बजे तक लोगों को और दूकानदारों को बल्ब बंद करने की अपील की जाती है.

2.53 लाख किलो कार्बन उत्सर्जन पर नियंत्रण
बताया जाता है कि इस उपक्रम के चलते अबतक 2.53 लाख किलो कार्बन उत्सर्जन पर नियंत्रण पाने में सफलता हासिल हुई है. यहां तक कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी इस उपक्रम की सराहना की है. एलईडी प्रकल्प अंतर्गत मनपा ने 1.39 लाख पारंपरिक पथदीपों को एलईडी में बदला है. जिससे वर्ष में 2.27 लाख युनिट कार्बन फुटप्रिंट की बचत हुई है.

बढ़ गई जिम्मेदारी : जोशी
महापौर संदीप जोशी ने कहा कि शहर की ग्रीन सिटी के रूप में पहचान है. अब इस पुरस्कार से पर्यावरण की दृष्टि से शहर एक कदम आगे बढ़ा है. ग्रीन सिटी के साथ ही ऊर्जा बचत करनेवाले शहर के रूप में देश में नाम दर्ज हुआ है. इस सफलता के पीछे जनता के सहयोग के साथ ही ग्रीन विजिल फाऊंडेशन के स्वयंसेवकों द्वारा की गई जनजागृति की भी बड़ी भूमिका रही है. अब शहर के नागरिक के रूप में प्रत्येक की जिम्मेदारी बढ़ गई है. हर व्यक्ति ने पुर्णिमा की रात घर और आस्थापना में बिजली बंद रखकर जिम्मेदारी निभानी चाहिए.