GMCH

नागपुर. मेडिकल अस्पताल परिसर से रविवार की शाम एक कैदी के फरार होने से खलबली मच गई. पूरी शहर पुलिस अलर्ट हो गई और उसकी तलाश शुरु की गई. देर रात तक उसका कोई सुराग नहीं मिला था. बताया जाता है कि फरार हुआ कैदी हत्या के मामले में आरोपी था. बड़ा ताजबाग निवासी माजिद अहमद उर्फ बम्बइया अब्बास अली (28) ने वर्ष 2014 में अब्दुल वसीम अब्दुल सत्तार (22) की हत्या की थी. हत्या करने के बाद वह फरार हो गया और धुलै में रहने लगा. लंबे समय तक सक्करदरा पुलिस उसकी तलाश करती रही लेकिन वह पुलिस के हाथ नहीं लगा.

सितंबर 2019 में पुलिस को जानकारी मिली कि माजिद अपने किसी रिश्तेदार से मिलने कामठी आया है. खबर मिलते ही उसे जाल बिछाकर गिरफ्तार किया गया. पुलिस हिरासत खत्म होने के बाद से वह जेल में था. रविवार को उसने जेल प्रशासन को तबीयत खराब होने की जानकारी दी. उसे जेल के ही अस्पताल ले जाया गया.

माजिद तकलीफ ज्यादा होने का नाटक करता रहा और उसे मेडिकल रेफर किया गया. पुलिसकर्मियों की टीम उसे लेकर मेडिकल अस्पताल पहुंची. कैज्युल्टी में उसके एडमिशन की कार्रवाई चल ही रही थी कि वह पुलिसकर्मियों चकमा देकर भाग निकला. पुलिसकर्मियों ने तुरंत कंट्रोल रूम और जेल अधिकारियों को उसके फरार होने की जानकारी दी. अजनी पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया. माजिद की तलाश में पुलिस देर रात तक जुटी हुई थी.