File Photo
File Photo

  • अकेले SECR में 20,000 को रेलकर्मियों राहत

नागपुर. फिलहाल रेलवे कर्मचारियों से रात्रिकालीन भत्ता की रिकवरी नहीं होगी. ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन के विरोध व अल्टीमेटम के बाद रेलवे बोर्ड ने फिलहाल आदेश को स्थगित कर दिया है. इससे अकेले दक्षिण पूर्व मध्य रेल बिलासपुर जोन के भी करीब 20,000 कर्मचारियों को राहत मिलेगी.

ज्ञात हो कि गत दिनों रेल मंत्रालय ने आदेश जारी किया था कि 1 जुलाई 2020 से 2017 तक कर्मचारियों को दिए गए रात्रिकालीन भत्ते की रिकवरी की जायेगी. इस आदेश से कर्मचारियों में आक्रोश था. वास्तव में इस रिकवरी से कोरोना काल में हजारों-लाखों रेलकर्मियों की आर्थिक स्थिति बिगड़ सकती थी. आदेश जारी होते ही पूरे देश में रेलकर्मियों द्वारा विरोध शुरू हो गया. ऐसे में आल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन ने आदेश का कड़ा विरोध करते हुए सरकार को 10 दिनों का अल्टीमेटम भी दिया. साथ ही फेडरेशन ने फेडरेशन ने सभी जोन के अपने यूनियनों को आंदोलन के लिए तैयार रहने को भी कहा.

हालांकि आंदोलन की आवश्यकता अब नहीं पड़ेगी क्योंकि रिकवरी आदेश स्थगित कर दिया गया है. हालांकि बोर्ड ने 2 आदेश जारी किए थे. इसमें एक रिकवरी और दूसरा रात्रिकालीन ड्यूटी भत्ता अब नहीं मिलने संबंधित था. रेलकर्मियों द्वारा उम्मीद जताई जा रही है कि रिकवरी के साथ-साथ जल्द ही बोर्ड को आदेश के दूसरे भाग को भी वापस ले लेगा.