Pit persists, yet 1.14 crore fine waived, Gutneta Pawar demands investigation

  • मूँडे की मनमानी, शहरवासियों की परेशानी

नागपुर. मानसून आ चुका है और ज़ोरदार बारिश की झलक भी दिखा चुका है. बावजूद इसके महानगर पालिका अपनी बारिशपूर्व तैयारियों में पिछड़ गयी. कुछ घंटो की बारिश से सड़कें लबालब हो गए और कई घरों में पानी घुस आया. हर बार यही होता है. इन दिनो महानगर पालिका आयुक्त तुकाराम मूँडे के हाथो में है. मनपा प्रशासन की तैयारियों को देख कर लग रहा जैसे मूँडे के मार्गदर्शन में काम कर रहे प्रशासन ने या तो पहले ही हार मान ली है या आयुक्त की मनमानी की सज़ा जनता भुगतेगी. यह बात विधायक विकास ठाकरे के नेतृत्व में शहर में सड़कों के गड्ढे और जलभराव के विरोध में प्रदर्शन कर रहे शहर कांग्रेस के शहर सचिव आनंद तिवारी ने कही.

जून में हाल तो जुलाई में क्या होगा
तिवारी ने कहा कि अभी तो मानसून पूरी तरह से शुरू भी नहीं हुआ है तो ये नज़ारा है. अभी जून महीना शुरू है और मुश्किल से ४ दिन बारिश हुई है. जुलाई महीने में कम से कम २० दिन बारिश आती है तब शहरवासियों का क्या हाल होगा. अंदाज़ा लगाया जा सकता है. बेहतर होता मनपा आयुक्त मूँडे नाग नदी की सफ़ाई की तरह सड़के सुधारने में भी मनमर्ज़ी दिखाते. क्यूँकि लोग बारिश के दौरान नाग नदी में नाव नहीं चलाएँगे बल्कि सड़क पर सायकिल और वाहन उपयोग करेंगे.

नहीं तो २२ को मनपा के सामने आंदोलन
तिवारी ने कहा कि मूँडे अपनी ईमानदारी से जनता का दिल जीत रहे लेकिन अपनी मनमानी से उनके लिए परेशानी भी खड़ी कर रहें हैं. तिवारी ने चेतावनी स्वरूप कहा कि यदि ३ दिन भीतर बारिश में जनता की परेशानी को ध्यान में रखते हुए शहर की सड़के नहीं सुधारी गयी तो अगले सोमवार २२ जून को मनपा कार्यालय के सामन मूँडे की मनमानी के ख़िलाफ़ जमकर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा. इस दौरान युवक कांग्रेस महासचिव आसिफ अंसारी अध्यक्ष अखिलेश राजन, रमन गोमदेलवार, राहुल चक्रधर, करण मेश्राम, राजा सक्सेना,. चेतन प्रधान आदि उपस्थित थे.