Arrested
File Photo

  • मुख्य आरोपी समेत 2 अरेस्ट, 7.13 लाख का माल जब्त

नागपुर. सोनेगांव पुलिस ने कुछ दिन पहले मेट्रोमोनियल साइट ‘जीवनसाथीडॉटकॉम’ के जरिये लड़की को होटलों मिलने के लिए बुलाकर गहनों समेत कुल 2.25 लाख रुपये की लूट करने वाले आरोपी को धरदबोचा. मुख्य आरोपी का नाम बोरदेही, तहसील आमला, जिला बैतूल, मप्र निवासी मिक्की सिंह जगजीत सिंह साहनी (38) बताया गया है. मिक्की की कबूली पर पुलिस ने उसका नकली आधार कार्ड बनाने और लूट का माल खरीदने वाले आमला निवासी आनंद उमेश साहू (30) को भी धरदबोचा. पुलिस ने आरोपी के पास से कई महंगे मोबाइल, लैपटाप और सोने-चांदी के गहनों समेत कुल 7,13,000 रुपये का माल जब्त किया.

4 वारदातों की कबूली

जोन-1 के पुलिस उपायुक्त नुरूल हसन ने बताया कि मुख्य आरोपी मिक्की फर्जी नामों से मेट्रोमोनियल वेबसाइट पर अपनी आईडी बनाता था. अपने प्रोफाइल में इंटरेस्ट दिखाने वाली युवतियों को झांसे में लेकर किसी होटल या अन्य जगहों पर बुलाकर उन्हें लूट लेता था. मिक्की ने अभी तक 4 महिलाओं को इसी प्रकार लूटने की कबूली दी है. इन वारदातों में आनंद ने भी उसका पूरा साथ दिया. पुलिस पूछताछ में मिक्की ने कबूली दी कि उसने रिम्पी खंडुसा (3९) और सेमी अरोरा (3८) नाम से फर्जी आईडी बनाई थी. दोनों आईडी में वह स्वयं को दिल्ली निवासी बताता था. वह वेबसाइट पर अविवाहित, तलाकशुदा या पुनर्विवाह की इच्छुक महिलाओं को ढूंढकर स्वयं को बड़ी नौकरी पर होने का दावा करता था. साथ ही घर से रईस होने के दावे से महिलायें उसके झांसे में आ जाती थीं. 

ओला कार से आते थे नागपुर

डीसीपी हसन ने बताया कि एक बार जाल में फंसने के बाद मिक्की महिलाओं को नागपुर बुलाता था. वह ओला कार बुक करके नागपुर आता था. इस दौरान आनंद भी उसके साथ रहता था. वह कभी स्वयं होटल बुक करता था और महिलाओं जरिए बुक करवाता था. इस दौरान उसने शहर के होटल प्राइड, रेडिसन ब्लू, सेंटर प्वाइंट होटलों में बुकिंग की. होटल में महिला के गहरी नींद में होने के बाद वह उनके मोबाइल, गहने और नकदी आदि लूटकर फरार हो जाता था. पूछताछ में आरोपियों ने भोपाल और जबलपुर की महिलाओं के साथ भी लूट की कबूली दी. 

क्या है मामला

ज्ञात हो कि मिक्की ने जीवनासाथी वेबसाइट पर मिली एक महिला को मिलने के लिए दिल्ली से नागपुर बुलाया. मिक्की ने महिला को अपना नाम रिम्पी बताया था. दोनों एयरपोर्ट से निकलकर सेंटर प्वाइंट में रुके. इस दौरान मिक्की ने अपने बोलने की शैली से महिला को अपने अमीर होने का यकीन दिला दिया. रात को जब महिला गहरी नींद में थी तब मिक्की उसके सोने-चांदी के कीमती गहने और मोबाइल समेत 2,20,380 रुपये का माल लेकर फरार हो गया. सुबह होने पर महिला को अपने साथ हुई धोखाधड़ी का पता चला. उन्होंने होटल स्टाफ की मदद से सोनेगांव पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई.

शिकायत मिलते ही पुलिस जांच में जुट गई. पता चला कि इससे पहले रेडिसन ब्लू होटल में भी इसी प्रकार का मामला सामने आया था. जिसमें मिक्की ने 28,000 रुपये की नकदी समेत 1.11 लाख रुपये के माल पर हाथ साफ किया था. इसके बाद डीसीपी नुरूल ने एक स्पेशल टीम बनाई और आरोपी की तलाश शुरू की. मोबाइल लोकेशन और अन्य तकनीकी जांच के बाद पुलिस ने पहले मिक्की को धरदबोचा. पूछताछ के बाद आनंद को भी गिरफ्तार कर लिया गया.

100 महिलाओं, युवतियों से संपर्क का खुलासा

गिरफ्तारी के बाद जब पुलिस ने आरोपियों के मोबाइल की जांच की तो 100 से अधिक महिलाओं और युवतियों के मोबाइल नंबर मिले. दोनों ने मेट्रोमोनियल वेबसाइट के जरिए इनके मोबाइल नंबर हासिल किए थे. मिली जानकारी के अनुसार, इनके अगले निशाने पर इनमें से ही कोई एक महिला थी. यदि पकड़े नहीं जाते तो सभी महिलाओं और युवतियों के साथ लूट की संभावना थी. हालांकि इससे पहले ही सोनेगांव पुलिस ने उन्हें धरदबोचा.