युवासेना अध्यक्ष विक्रम राठोड़ की सरगर्मी से तलाश

  • संजोग को 4 दिन की पुलिस हिरासत

नागपुर. साहूकार को ब्लैकमेल कर 8 लाख की फिरौती के मामले में फरार युवासेना के जिला अध्यक्ष विक्रम सुरेश राठोड़ (32) की पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है. बताया जाता है कि 2 टीमों को विक्रम की तलाश में लगाया गया है. व्यापारी मेहबूब बाशा शेख से फिरौती की रकम वसूलने गए विक्रम के भाई और शिवसेना के विभाग प्रमुख संजोग राठोड़ को पुलिस ने शनिवार को रंगेहाथ गिरफ्तार किया था. उसे रविवार को न्यायालय में पेश किया गया. अदालत ने संजोग को 4 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है. मेहबूब बाशा साहूकारी का व्यवसाय करते है. उनके पास साहूकारी का लाइसेन्स भी है.

महिलाओं को रोजगार के लिए ब्याज पर रकम उधार देते है. विक्रम को उनके व्यवसाय का पता चला. विक्रम ने उन्हें फोन लगाकर धमकाया. अवैध रूप से वसूली का आरोप लगाते हुए उनका लाइसेन्स रद्द करवाने की धमकी दी. व्यापार सुचारू रखने के लिए उनसे 15 लाख की फिरौती मांगी गई थी. इतनी रकम देने में असमर्थता दिखाने पर विक्रम 8 लाख रुपये लेने पर मान गया. शनिवार को पहली किश्त के रूप में 5 लाख रुपये देने का तय हुआ. बाशा ने मामले की शिकायत अजनी पुलिस से की. इंस्पेक्टर संतोष खांडेकर ने शांतिनिकेतन स्कूल के पास रकम लेने आए संजोग को जाल बिछाकर गिरफ्तार कर लिया.

करता था वाट्सएप कॉल

संजोग के पकड़े जाने की भनक लगते ही विक्रम फरार हो गया. अजनी पुलिस ने रविवार को उसे न्यायालय में पेश किया. आरोपियों ने इस तरह कितने लोगों को ठगा है इसका पता लगाने. विक्रम के कहने पर ही संजोग रकम लेने आया था. विक्रम के बारे में पूछताछ करने और उन दोनों का कॉल डिटेल के रिकार्ड की जांच करने के लिए पुलिस हिरासत मांगी गई. मामले की गंभीरता को देखते हुए न्यायालय ने संजोग को 4 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया. इंस्पेक्टर खांडेकर ने बताया कि पुलिस विक्रम की तलाश में जुट गई है. जल्द ही उसे भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा. यदि इस तरह पहले भी लोगों को ब्लैकमेल कर फिरौती वसूली गई है तो पीड़ित लोग पुलिस से शिकायत कर सकते है. बाशा कॉल रिकार्ड न कर पाए इसीलिए विक्रम वाट्सएप के जरिए ही कॉल करता था. इसका पूरा ब्यौरा पुलिस जमा कर रही है. 

दोनों को पद से बर्खास्त किया
उधर, पार्टी ने संजोग और उसके भाई विक्रम के खिलाफ कड़ा एक्शन लेते दोनों को पदों से बर्खास्त कर दिया. मुंबई के निर्देश पर नागपुर जिला के युवासेना विस्तारक एड. धरम मिश्रा ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि विक्रम को जिला प्रमुख और संजोग को विभाग प्रमुख पद से हटा दिया गया है.