Nagpur Mayor Dayashankar Tiwari

  • 1,000 अतिरिक्त बेड का रखें प्रबंध
  • 24,000 के पार एक्टीव मरीजों की संख्या

नागपुर. कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण का आंकड़ा तीव्र गति से बढ़ने के कारण उपाय के लिए भले ही कुछ अत्यावश्यक वस्तुओं को छोड़कर अन्य पर पाबंदी लगाई गई थी. किंतु दबाव के चलते अब 31 मार्च तक लॉकडाउन बढ़ाने के साथ ही कई तरह की गतिविधियों को छूट प्रदान की गई. एक ओर कोरोना तो दूसरी ओर अन्य व्यवस्था के बीच तालमेल बिठाते हुए प्रशासन अधिक से अधिक टेस्ट तथा अधिक से अधिक वैक्सीन लगाने की जुगत में भीड़ा हुआ है. किंतु दिन प्रतिदिन कोरोना के बढ़ते आंकड़ों के कारण व्यवस्था चरमरा रही है. यहीं कारण है कि 24,000 के पार पहुंची एक्टीव मरीजों के आंकड़े को देखते हुए महापौर दयाशंकर तिवारी ने कोरोना बाधितों के लिए अतिरिक्त 1,000 बेड की व्यवस्था करने के निर्देश प्रशासन को दिए.

जनजागृति की कमी, फैलती दहशत

सूत्रों के अनुसार कोरोना के पहले चरण में इलाज की अनभिज्ञता के बावजूद प्रतिदिन मृतकों का आंकड़ा और पॉजिटिव के आंकड़ें पर काफी हद तक प्रशासन ने नियंत्रण पाया था. हालांकि, अकेले ही निर्णय लेने के लिए तत्कालीन आयुक्त मुंढे को सत्तापक्ष की कड़ी आपत्ति का सामना भी करना पड़ा था. किंतु मनपा गलियारों में अब उस समय प्रशासन का किरदार असरदार होने के दबी आवाज में सूर लगाते कई पदाधिकारी भी देखे जा रहे हैं. वर्तमान में इलाज की कुछ हद तक जानकारी होने के बावजूद जनजागृति की कमी के चलते लोगों में दहशत का माहौल फैला हुआ है. किसी भी व्यक्ति के पॉजिटिव होने से पहले यदि उसकी तबीयत बिगड़ जाए, तो प्रशासन से किस तरह मदद हासिल की जाए, इसे लेकर लोगों में संभ्रम की स्थिति है.

निजी अस्पतालों को दें अनुमति

-शहर में प्रतिदिन 2,500 से लेकर 3,000 तक कोरोना बाधितों का आंकड़ा उजागर हो रहा है. 

-इसी तरह एक्टीव मरीजों की संख्या भी लगातार बढ़ते जा रही है. अब तक 3,000 के करीब लोग कोरोना से जान गंवा बैठे है. 

-इस गंभीर स्थिति को देखते हुए अब निजी कोरोना अस्पताल में भी बेड की संख्या बढ़ाने की अनुमति देने के निर्देश प्रशासन को दिए. इसी तरह शहर के नॉन कोविड अस्पताल को भी कोविड अस्पताल शुरू करने के लिए अनुमति देने की हिदायत दी. 

-मेयो अस्पताल में बढ़ती संख्या को देखते हुए वहां अतिरिक्त डॉक्टर्स और कर्मचारियों की नियुक्ति करने तथा पांचपावली सूतिकागृह में कोरोना मरीजों के लिए निचली मंजिल पर व्यवस्था तुरंत शुरू करने के निर्देश भी दिए.  

हंसापुरी खदान में शुरू हुई वैक्सीन

हंसापुरी खदान स्थित आयुर्वेदिक अस्पताल परिसर में मनपा की ओर से वैक्सीनेशन शुरू किया गया. महापौर की उपस्थिति में पहले ही दिन लोगों को वैक्सीन लगाई गई. पार्षद संजय बालपांडे, डॉ. विजय जोशी, जोनल वैद्यकीय अधिकारी डॉ. ख्वाजा उपस्थित थे.