crime

नागपुर. यशोधरानगर थानांतर्गत वनदेवीनगर परिसर में बुधवार की दोपहर नाले में डूबी 12 वर्ष की बच्ची सलेहा मुस्कान सलीम अंसारी का शव गुरुवार को पावनगांव परिसर में मिला. इस घटना को लेकर स्थानीय नागरिकों में रोष बरकरार है और परिवार को मुआवजा देने की मांग की जा रही है.

संगमनगर निवासी सलेहा मुस्कान बुधवार की सुबह अपनी बड़ी बहन जवेरिया फरहत के साथ घर जा रही थी. नाले पर बने लोहे के पुल पर संतुलन बिगड़ने के कारण वह गिर गई. नाले में पानी का बहाव तेज था और वह बह गई. बुधवार को अंधेरा होने के तक अग्निशमन विभाग ने उसकी तलाश की लेकिन कुछ पता नहीं चला.

गुरुवार को दोबारा खोज अभियान चलाया गया और पावनगांव परिसर में नाले के किनारे उसका शव दिखाई दिया. पुलिस ने पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. वनदेवीनगर परिसर में पिछले 3 वर्षों से नाले की पुलिया का निर्माण चल रहा है. इस वजह से 2 बस्तियों को जोड़ने के लिए बड़ी पाइप लाइन से लगकर 3 फुट चौड़ा लोहे का पुल तैयार किया गया.

परिसर के सभी नागरिक इस पुल से ही जाना आना करते है. नागरिकों का कहना है कि प्रशासन की लापरवाही से यह हादसा हुआ है. इसके पहले भी एक बच्चा डूब चुका है. इसीलिए पीड़ित परिवार को प्रशासन द्वारा मुआवजा दिया जाना चाहिए.