बारिश ने दी उमस से राहत, शाम से देर रात रुक-रुक कर बरसे बादल

  • पेड़ गिरा, स्कार्पियो सड़क से उतरी
  • 6.2 मिमी हुई वर्षा
  • 35.6 डिसे पर अधिकतम तापमान
  • 23.4 डिसे न्यूनतम तापमान

नागपुर. बीते कुछ दिनों से बारिश के गायब हो जाने से सिटी उमस से हलाकान हो रही है. कूलर दोबारा शुरू हो चुके हैं. गुरुवार को भी सुबह से ही धूप और उमस का ही मौसम था. शाम करीब 5 बजे आसमान में बादलों ने डेरा जमाया और फिर बारिश शुरू हुई. कभी तेज, कभी मध्यम और कभी हल्की बारिश का सिलसिला रुक-रुक कर रात तक चलता रहा. बीच-बीच में बूंदाबांदी भी होती रही जिसके चलते मौसम में ठंडकता आ गई और उमस से राहत मिली. मौसम विभाग ने रात 8.30 बजे तक सिटी में 6.2 मिमी बारिश दर्ज की. वहीं अधिकतम तापमान 35.6 डिसे दर्ज किया गया जो औसत से 1.3 डिग्री कम रहा. न्यूनतम तापमान 23.4 दर्ज हुआ जो औसत से 2.3 डिग्री कम रहा. शहरवासियों को अब लगातार व धुआंधार बारिश का इंतजार है. पिछले कुछ दिनों से आधा-पौन घंटे की बारिश ही हो रही है जिससे उबालती उमस से नागरिक त्रस्त हो चुके हैं. वहीं किसानों को भी अच्छी बारिश का इंतजार है ताकि बुआई शुरू की जा सकें. 

21 जून तक ऐसा ही मौसम

मौसम विभाग ने सिटी में 21 जून तक बदली भरे मौसम के साथ ही रोज ही 1-2 स्पैल की बारिश होने की संभावना जताई है. वहीं 22 व 23 जून को धूपछांव के मौसम के साथ हल्की बारिश या बौछारें पड़ने के संकेत दिए हैं. इस दौरान सिटी का अधिकतम तापमान 32 से 34 डिसे और न्यूनतम तापमान के 25-26 डिसे तक बने रहने की संभावना है. 

काटोल रोड में पेड़ धराशायी

बारिश के दौरान काटोल रोड में रिलायंस पेट्रोल पंप के पास एक विशालकाय वृक्ष धराशायी हो गया जिसके चलते सड़क में दोनों ओर से यातायात घंटों बाधित रहा. जाम लग गया. पेड़ रोड के बीचोबीच गिरा था जिससे दोनों साइड से रोड जाम हो गया था. वहीं झंडा चौक महल में एक स्कार्पियों पानी भरे सड़क में अंदाजा नहीं लगा पाने के चलते सीमेन्ट रोड से नीचे उतर कर फंस गया. जिससे रोड में काफी देर तक झंडा चौक से नई शुक्रवारी तक जाम लग गया. दरअसल यह रोड पिछले 3 महीने से बन रहा है. रोड के किनारे आईब्लाक्स नहीं लगाए जाने के चलते गाड़ी सीधे करीब पौन फीट नीचे उतर गई. इस तरह की घटनाएं पहले भी हो चुकी हैं.