arrested

  • येवला वन विभाग ने की कार्रवाई

येवला. तहसील के निमगांव मढ़ में जंगली सूअर का शिकार करने का प्रयत्न करने वाले 9 संदिग्धों को येवला वन विभाग के अधिकारियों ने हिरासत में ले लिया है. संदिग्धों के विरुद्ध वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत गुनाह दाखिल किया गया है. यह जानकारी येवला वनपरिक्षेत्र अधिकारी संजय भंडारी ने दी है. 

किसान के खेत में लगाया था जाल

प्राप्त जानकारी के अनुसार येवला तहसील के निमगांव मढ़ गांव में मोरे नामक किसान के खेत में जंगली सूअर का शिकार करने के उद्देश्य से संदिग्धों ने जाल बिछाया था. यह सूचना मिलते ही वन विभाग के अधिकारियों ने छापा मारकर शिकरी दोषियों को हिरासत में ले लिया. उनके पास से 5 मोटरसाइकिलें, एक भाला और शिकार के लिए उपयोगी 12 जाल जब्त किए गए. वन विभाग की इस कार्रवाई में देवराम अरुण चव्हाण, गणेश रघुनाथ चौधरी, गुलाब रामचंद्र पालवी (कोल्हेर तहसील दिंडोरी) साहेबराव हरी चौधरी, मोहन चंदर चौधरी, लक्ष्मण दत्तू चौरे (पिंपरी आंचला, दिंडोरी )पंडित हरि चौधरी, अनिल पुंडलिक चौरे  (हींगलवाड़ी कलवण ) लक्ष्मण हरि मोंडे (अंबानेर, दिंडोरी ) को गिरफ्तार किया गया है. 

5 बाइक, एक भाला व 12 जाल जब्त

पकड़े गए सभी अपराधियों पर वन प्राणी संरक्षण अधिनियम १९७२ के अनुसार  गुनाह दाखिल किया गया है. पूर्व भाग नाशिक उपवनसंरक्षक तुषार चव्हाण, मनमाड सहायक वनसंरक्षक सुजीत नेवसे के मार्गदर्शन में येवला वनपरिक्षेत्र अधिकारी संजय भंडारी, वनरक्षक प्रसाद पाटिल, गोपाल हरगावकर, पंकज नागपुरे, वनसेवक विलास देशमुख, सुनील भुरुक ने कार्रवाई की.