येवला मार्केट यार्ड में लाल प्याज की आवक शुरू, घटे दाम

येवला. इस सप्ताह के दौरान येवला और अंदरसूल बाजार यार्ड में गर्मी के प्याज (onion) की आवक जारी रही, जबकि लाल प्याज की आवक शुरू हो गई।  वहीं लाल प्याज की आवक शुरू होने से  बाजार कीमतों में गिरावट आई है। उत्तर प्रदेश, बिहार, असम, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश आदि राज्यों में प्याज की अत्यधिक मांग रही।

300 से अधिकतम 2790 जबकि औसत 1800  रूपए प्रति क्विंटल, जबकि लाल प्याज का बाजार मूल्य कम से कम 500 से अधिकतम 2841 जबकि औसत 2400 रूपए प्रति क्विंटल रहा। इसके अलावा, उप-बाजार अंदरसूल में प्याज की कुल आवक 13085  क्विंटल है और प्याज का बाजार मूल्य कम से कम 300 से अधिकतम 2800 जबकि औसत 1800 प्रति क्विंटल रहा। लाल प्याज का बाजार मूल्य कम से कम 500 से अधिकतम 2990 है, जबकि औसत 2400 रूपए प्रति क्विंटल भाव मिला। 

सप्ताह के दौरान गेहूं के आयात में वृद्धि हुई और बाजार की कीमतें स्थिर रहीं। स्थानीय व्यापारियों की सामान्य मांग और घरेलू मांग के कारण बाजार की कीमतें स्थिर रहीं। 1000 से लेकर अधिकतम 2222 रुपए और औसतन 1500 रुपए जबकि सप्ताह के दौरान बाजरे की आवक स्थिर रही, साथ ही बाजार की कीमतें स्थिर रहीं।

अदरक और बाजरे के लिए स्थानीय व्यापारियों की मांग सामान्य रहने से बाजार भाव स्थिर रहा। सप्ताह के दौरान बाजरे की कुल आवक 137 क्विंटल थी और बाजार भाव 1200 रुपये और अधिकतम 1550 रूपए था। जबकि औसत 1235 तक दाम रहा। यदि चने का आयात सप्ताह के दौरान घटता है, तो बाजार की कीमतें स्थिर होगी। व्यापारियों की मांग सामान्य रहने से बाजार मूल्य स्थिर हो गया।

सप्ताह के दौरान, मूंग आयात में गिरावट आई, जबकि बाजार की कीमतों में गिरावट आई। मूंग के व्यापारियों की मांग में गिरावट से बाजार की कीमतों में गिरावट आई। सप्ताह के दौरान मूंग का कुल आवक 140 क्विंटल था और बाजार मूल्य कम से कम 3000 से अधिकतम  6011 जबकि औसत 5000 रूपए भाव रहा। जहां सप्ताह के दौरान सोयाबीन का आयात कम हुआ, वहीं बाजार की कीमतें स्थिर रहीं। सोयाबीन के लिए स्थानीय व्यापारियों की मांग बढ़ने से बाजार की कीमतें स्थिर रहीं। सप्ताह के दौरान सोयाबीन की कुल आवक 1990 क्विंटल थी और बाजार मूल्य कम से कम 3576 से अधिकतम 4150 जबकि औसत 4086 रुपये रहा। यह जानकारी मार्केट कमेटी के सचिव के. आर. व्यवहारे ने दी है।