प्रधान सचिव से मनपा के भ्रष्टाचार की शिकायत

  • विधायक शाह ने खोली पोल
  • खंडहर में बदल चुके हैं कई विद्यालय
  • अस्पतालों में सुविधाओं का अभाव

धुलिया. शहर के विधायक फारूक शाह ने शहरी विकास मंत्रालय के प्रधान सचिव को ज्ञापन सौंपकर नगर की विभिन्न समस्याओं के बारे में चर्चा की है. इस मौके पर विभिन्न शिकायतों का ज्ञापन सौंपा है. शहरी विकास मंत्रालय के प्रधान सचिव को समस्याओं से अवगत कराते हुए विधायक फारूक शाह ने बताया कि महानगर पालिका की प्राथमिक स्कूलों की हालत खस्ता हो चुकी है. कुछ विद्यालय जर्जर और खंडहर के रूप में रूपांतरित हो गए हैं. महानगर पालिका अस्पतालों की हालत बहुत खराब है.

गरीबों का स्वास्थ्य दांव पर

स्वास्थ्य प्रणाली अप्रभावी हो गई है और गरीबों का स्वास्थ्य दांव पर लगा है. धुलिया के नागरिकों को मूलभूत सुविधाओं के लिए महानगर पालिका प्रशासन फेल हो चुका है अनेक बार शिकायत करने के बाद भी प्रशासन उदासीन बना हुआ है. बारिश के मौसम में भरपूर जल संचय होने के बावजूद नियोजन के अभाव में नागरिकों को 8 से 10 दिनों में पानी की आपूर्ति की जा रही है.इसी तरह से यातायात तो कंट्रोल करने वाले सिग्नल भी मृत अवस्था में पड़े हैं जिसकी ओर महानगर निगम प्रशासन ने कई सालों से लापरवाही बरत रखी है. इसके चलते नगर में प्रतिदिन दुर्घटनाएं घटित होती रहती हैं.

प्रतिबंध के बावजूद ठेकेदारों के बिलों का भुगतान

लॉकडाउन अवधि के दौरान, सरकार के निर्णय के अनुसार 4 मई, 2020 को, कोविद -19 के अलावा किसी भी काम के लिए पैसा खर्च नहीं करने का आदेश था, निश्चित रूप से, कोरोना बीमारी की लागत को छोड़कर  1 मई, 2020  28 जुलाई, 2020 तक बड़ी संख्या में ठेकेदारों के बिलों का भुगतान किया गया है.  साथ ही, शहर में कोरोना प्रतिबंधित क्षेत्र के लिए आवश्यक सामग्री, बांस आदि के नाम पर करोड़ों रुपये का गबन किया गया है.  साथ ही शहर कूड़े से अटा पड़ा है और कचरा संग्रहण समय पर नहीं किया जा रहा है. वाटर ग्रेस कंपनी मनपा कर्मियों से सांठगांठ कर लाखों रुपए का प्रति माह प्रशासन को चूना लगा रही है.

अनियमित कार्यों की करें निष्पक्ष जांच

इन सब का अनियमित कार्यों की समिति गठन कर निष्पक्ष जांच कराने की मांग का ज्ञापन विधायक शाह ने नगर विकास मंत्रालय के प्रमुख सचिव को दिया है. नगर सचिव ने भ्रष्ट अधिकारी को जांच कर उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के आश्वासन विधायक को दिया है.