जनवरी तक कायम रहेगी प्याज के दामों में तेजी : नानासाहेब पाटिल

लासलगांव. मांग की तुलना में प्याज आपूर्ति नहीं होने से प्याज के दामों में लगातार वृद्धि हो रही है. नई लाल प्याज का उत्पादन कम होने से प्याज के दामों में जनवरी तक तेजी कायम रहने के संकेत कृषि क्षेत्र के विशेषज्ञों ने दिये हैं. वर्तमान में प्याज के दामों को लेकर बड़े पैमाने पर गल्ली से लेकर दिल्ली तक चर्चा शुरू है. लेकिन वास्तविक स्थिति देखने के लिये ग्रामीण क्षेत्र में पहुंचने की आवश्यकता है.

इस बार 3 प्रकार से किसानों को नुकसान उठाना पड़ा है. बारिश में बदली, गर्मी में बारिश होने के कारण प्याज खराब हुई. दक्षिण भारत से सितंबर में नई लाल प्याज की आवक शुरू होती है, लेकिन वहां पर अतिवृष्टि होने के कारण वहां की प्याज बरबाद हुई. परिणाम स्वरूप अक्टूबर की शुरुआत में नई लाल प्याज बाजार में दाखिल होना अपेक्षित था. लेकिन, अब प्याज समाप्त हो रही है, जिसका परिणाम दामों पर हो रहा है. इसबार लाल प्याज का 25 प्रतिशत उत्पाद हाथ में आयेगा जो, अलग अलग चरणों में बाजार में दाखिल होगा. मांग की तुलना में आवक कम रहेगी. इसलिये जनवरी तक दामों में उछाल कायम रहने का अंदाजा कृषि क्षेत्र के विशेषज्ञ नाना साहेब पाटिल ने व्यक्त किया है.