राजस्व कर्मियों ने किया थाने में आंदोलन

  • कांग्रेस कार्यकर्ता ने तहसीलदार से किया दुर्व्यवहार

यावल. शिव भोजन थाली का ठेका नहीं मिलने से गुस्साए कांग्रेसी कार्यकर्ता ने तहसीलदार से गाली गलौज करते हुए उनके शरीर पर नोट फेंका. इस घटना से राजस्व कर्मियों में सनसनी फैल गई. गुरुवार सुबह 11:00 बजे से राजस्व कर्मियों ने काला फीता लगाकर यावल पुलिस स्टेशन में संबंधित अपराधी को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर आंदोलन किया.

शिव भोजन थाली का ठेका न मिलने से था नाराज

प्राप्त जानकारी के अनुसार यावल शहर में 3 महीने पहले शिव भोजन थाली का ठेका तहसीलदार के माध्यम से दिया गया है. ठेके के लिए 4 से 5 लोगों ने आवेदन किया था.जिसमें एक आवेदन पुंडलिक बाजीराव बारी ने भी किया था. आवेदन में कागजों की कमी के कारण उसे ठेका नहीं दिया गया, किसी अन्य व्यक्ति को शिव भोजन थाली का यावल शहर में ठेका दिया गया. इस बात को लेकर तहसीलदार जितेंद्र कुवर से विवाद कर रहा था और मामले की जांच को लेकर ज्ञापन दे रहा था.

समीक्षा बैठक के दौरान तहसीलदार पर फेंका नोट

बुधवार को कोरोना वायरस को लेकर तहसीलदार कार्यालय में राजस्व कर्मी की समीक्षा बैठक चल रही थी. इस बीच राष्ट्रीय कांग्रेस के कार्यकर्ता पुंडलिक बाजीराव बारी तहसीलदार कार्यालय में आए तहसीलदार कुंवर से शिव भोजन थाली के ठेके को लेकर विवाद करने लगे. गाली गलौज देकर उनके शरीर पर नोट फेंका.

इस निंदनीय घटना से राजस्व कर्मियों में नाराजगी व्याप्त हो गई. यावल में कार्यरत नायब तहसीलदार, अव्वल कारकून, मंडल अधिकारी, पटवारी, लिपिक, शिपाई, कोतवाल ने आरोपी बारी को गिरफ्तार करने एवं मामला दर्ज कराने की मांग को लेकर यावल पुलिस थाने में काला फीता लगा कर लेकर आंदोलन किया. पुलिस ने मामला दर्ज किया है. इस आंदोलन में अनुविभागीयअधिकारी डॉ.अजित थोरबोले,तहसीलदार जितेंद्र कुवर, नायब तहसीलदार आर. के. पवार, नायब तहसीलदार आर.डी. पाटिल, नायब तहसीलदार मुक्तार तडवी सहित अन्य राजस्व कर्मी शामिल हुए.