स्कूलों में उपस्थित रहने शिक्षकों पर सख्ती

सेना नेता शानभाऊ सोनवणे ने सौंपा ज्ञापन

शिंदखेड़ा. धुलिया जिले के कुछ स्कूल एवं कॉलेज में शिक्षकों को उपस्थित रहने की सख्ती की जा रही है. इसके खिलाफ शिवसेना के उप जिला प्रमुख शानाभाऊ सोनवणे ने जिला शिक्षा कार्यालय में ज्ञापन सौंपा.  कोरोना (कोविड 19)महामारी दिन प्रति दिन शहर में ही नहीं तो ग्रामीण आंचल में भी अपने पैर पसार रहा है. इसलिये राज्य सरकार  सामाजिक अंतर रखने की दृष्टि से मार्गदर्शन सूचना एवं जनजागृति कर रही है. सामाजिक अंतर रखने की दृष्टि से  शासन ने विद्यालय/महाविद्यालयों में शिक्षक-शिक्षकेतर कर्मचारियों के लिए 24 जून को अध्यादेश निकाला है.

 55 वर्ष के शिक्षकों को भी बुला रहे

55 वर्ष उम्र के विविध व्याधिग्रस्त एवं महिला शिक्षिकों को  विद्यालय में नहीं बुलाया जाये. शेष कर्मचारियों को केवल आवश्यक काम हो तो ही, हफ्ते में 1 या  2 दिन विद्यालय में बुला सकते हैं.  ऐसा होते हुए भी जिले के कई विद्यालय कर्मचारियों को बुला रहा है. एवं पूरे समय रुकने के लिए बाध्य कर रहा है. वास्तविक 30 सितम्बर तक  शासन ने  शाला /महाविद्यालय व शिक्षा संस्था बंद रखने का आदेश दिया था. पर कर्मचारियों को स्कूल में जबर्दस्ती बुलाया जा रहा है. इससे संपर्क बढ़ने से कोरोना  फ़ैलने को अधिक बल मिल रहा है. कोरोना के कारण धुलिया जिले के भालले,थालणेर,गोराणे के शिक्षकों को  कोरोना हुआ और कई लोगों की मृत्यु भी हो गई.

स्वस्थ हुए शिक्षकों पर फिर से कोरोना का खतरा

कुछ शाला में  कर्मचारी कोरोनाग्रस्त हुये, ठीक होने पर, उन्हें फिर से स्कूल में बुलाया जा रहा है.उक्त शिक्षकों को फिर से कोरोना होने का  खतरा बना हुआ है, जिसकी ओर अधिकारियों का ध्यान नहीं? इसका जिम्मेदार कौन?

शिक्षा संस्थानों की हरकतों की निंदा

ग्रामीण आंचल में कई कोरोना मरीज मिल रहे हैं. अनेक शिक्षक कंटेन्मेन जोन में हैं. फिर भी, शाला में 50% उपस्थिति पर सख्ती की जा रही है. शिवसेना उप जिला प्रमुख शानाभाऊ सोनवणे ने कॉलेज महाविद्यालय संस्थान के इस निर्णय की निंदा की है. कोविड-19 के आदेशों का पालन करने के लिए शिक्षा विभाग को ज्ञापन सौंपा है. तत्काल कार्रवाई करने की मांग शिवसेना के उप जिला प्रमुख, पूर्व उप शहर प्रमुख मनोज परदेशी, उप शहर प्रमुख किरण सावले प्रसिद्ध प्रमुख संजय मगरे, पूर्व कार्यालय प्रमुख ज्ञानेश्वर परदेशी, दीपक ओतारी, पंकज वाकडे  आदि ने  सहायक शिक्षक निरीक्षक महेंद्र को ज्ञापन सौंपा.