Vacant posts of education department should be filled soon, avis submitted memorandum

  • राज्यभर में शिक्षकों का अध्यापन प्रयास होगा पंजीकृत
  • प्रशिक्षण परिषद’ के निदेशक ने जारी किया परिपत्र

साक्री. राज्य का शिक्षा विभाग सूबे के सभी स्तरों के शिक्षकों के अध्यापन कार्य के प्रयासों को पंजीकृत करना चाहता है, जिसकी टिप्पणी रिपोर्ट के रूप में ऑनलाइन दर्ज होगी.अब शिक्षकों को अपने साप्ताहिक अध्ययन-अध्यापन का ब्यौरा विभाग के पोर्टल पर ऑनलाइन दर्ज कराना होगा. लॉकडाउन के चलते सभी शिक्षा संस्थान नए शैक्षिक वर्ष में अभी शुरू नहीं हो पाए हैं. किंतु सभी शिक्षक अपनी ओर से ऑनलाइन या जहां सुविधा नहीं है, वहां प्रत्यक्ष रूप में छात्रों को शिक्षा दे रहे हैं. इसकी जानकारी राज्य के शिक्षा विभाग को है. 

विभाग की ओर से समय-समय पर  शिक्षकों के उक्त प्रयासों की प्रशंसा भी की गई है. राज्य के पुणे स्थित ‘शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद’ द्वारा परिषद के निदेशक दिनकर पाटील ने हाल ही में परिपत्र जारी किया है.

शिक्षा संस्थान बंद, फिर भी पढ़ाई शुरू

राज्य में सभी प्रबंधन, सभी माध्यमों, प्राथमिक, माध्यमिक विद्यालयों, जूनियर कॉलेजों के शिक्षकों के साप्ताहिक ऑनलाइन और प्रत्यक्ष अध्यापन की  रिपोर्ट के संग्रह किया जाना है. कोरोना के प्रकोप के मद्देनजर राज्य में स्कूल और कॉलेज बंद हैं. स्कूल शिक्षा विभाग के माध्यम से छात्रों की शिक्षा के लिए विभिन्न प्रयास किए जा रहे हैं. राज्यभर के शिक्षक अपने छात्रों की शिक्षा के लिए विभिन्न ऑनलाइन प्लेट फार्मों के माध्यम से अपनी शिक्षा जारी रखने की कोशिश कर रहे हैं.

जहां स्मार्ट फोन नहीं, वहां प्रत्यक्ष पढ़ाई

उन छात्रों के लिए घर-घर जाकर, जिनके पास डिजिटल (स्मार्टफोन, कम्प्यूटर) साधन नहीं हैं, शिक्षा मित्र और ऐसी कई नई संकल्पनाओं से पहल की है और यह प्रशंसा का विषय है.  शिक्षकों द्वारा किए जा रहे प्रयासों और पहलों के बारे में राज्य सरकार और केंद्र सरकार को सूचित करने के लि‍ए (लिंक द्वारा http://covid19.scertmaha.ac.in) एक विशेष पोर्टल के माध्यम से, शिक्षक द्वारा ऑनलाइन और प्रत्यक्ष (ऑफ़लाइन) अध्ययन-अध्यापन के प्रणालियों पर जानकारी का साप्ताहिक संग्रह किया जाएगा.

पोर्टल पर देनी होगी साप्ताहिक रिपोर्ट

शिक्षक उक्त पोर्टल पर जाकर अपना पंजीकरण करेंगे.  प्रत्येक सप्ताह अपनी कक्षा की जानकारी प्रत्येक सप्ताह के शनिवार/रविवार के दिन ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर पंजीकृत करना होगा. शिक्षकों, स्कूलों, केंद्रों, तहसील और जिला स्तर के प्रत्येक शिक्षकों के छात्रों तक पहुंचने के प्रयासों पर एक रिपोर्ट पोर्टल पर तैयार की जाएगी. शैक्षिक परिषद द्वारा परिपत्र में सभी शिक्षा संस्थानों के प्रमुखों से आग्रह किया गया है कि वे अपने तहत कार्य करनेवाले सभी शिक्षकों को उक्त पोर्टल और उसमें भरी जानेवाली सूचना और रिपोर्ट की जानकारी दें.

धुलिया जिला स्तर डायट के प्रो. प्रवीण अजाबराव पाटिल को समन्वय का कार्य सौंपा गया है और  राज्य स्तर पर आईटी  विभाग कि उप-मंडल प्रमुख सरस्वती सूर्यवंशी,  (9850977312) और  इसी विभाग के  विषय सहायक अभिनव भोसले   से (7722074294) कार्य करेंगे. जिन्हें किसी भी समस्या समाधान के लिए संपर्क किया जा सकता है.

शिक्षक अपना अध्यापन कार्य लगन और मेहनत से कर रहें हैं, सरकार द्वारा उक्त कार्य को स्वीकार किया गया है. किंतु पंजीकृत होने से कार्य को पहचान मिलेगी और शिक्षकों के प्रयासों को भी बल मिलेगा.-एम.एम.सूर्यवंशी, प्राचार्य, न्यू इंग्लिश स्कूल, जूनियर कालेज, साक्री