सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की ख़बर से अमरिंदर नाराज, पंजाब कांग्रेस दो-फाड़ की कगार पर!

    चंडीगढ़: नवजोत सिंह सिद्धू (Navjoot Singh Sidhu) को पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) का अध्यक्ष बनाए जाने की खबरों के बीच कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amrindar Singh) नाराज हो गए हैं। जिसके बाद एक बार फिर राज्य में कांग्रेस दो फाड़ की कगार पर पहुंच गई है। 

    बुलाई समर्थकों की बैठक 

    मुख्यमंत्री अमरिंदर ने सिद्धू को अध्यक्ष बनाए जाने की खबरों के बाद अपने सभी समर्थक विधायक, सांसद और मंत्रियों को अपने फार्म हाउस पर बैठक के लिए बुलाया है. इस बैठक में आगे की रणनीति पर फैसला किया जाएगा.

    ज्ञात हो कि, गुरुवार सुबह को पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने कहा था कि, कैप्टन अमरिंदर सिंह के अगुवाई में अगला विधानसभा चुनाव लड़ा जाएगा। वहीं सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाएगा। रावत के इस ऐलान के बाद दोनों नेताओं के बीच करीब दो साल से शुरू लड़ाई खत्म होती दिख रही थी। 

    सिद्धू ने समर्थकों के साथ की बैठक 

    कैप्टन के नाराजगी की खबरों के बीच सिद्धू ने अपने समर्थक पांच मंत्रियों और 10 विधायकों के साथ बैठक की। यह बैठक चंडीगढ़ में मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा के घर पर हुई. जिसमें विधायक चरणजीत सिंह चन्नी, परगट सिंह और तृप्त राजिंदर बाजवा मौजूद रहे.

    रावत ने दी सफाई 

    सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के कारण अमरिंदर सिंह की नाराजगी की ख़बर के बाद अब रावत ने अपने बयान पर सफाई दी है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बाहर निकले कांग्रेस महासचिव ने कहा, “मैंने ऐसा नहीं कहा। मुझसे पूछा गया कि क्या उन्हें (नवजोत सिंह सिद्धू) पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया जाएगा और मैंने कहा कि आप जो कह रहे हैं उसके आसपास फैसला लिया जाएगा।”