karaouli

करौली. एक खबर के अनुसार राजस्थान (Rajasthan) के करौली (Karaouli) में निर्ममतापूर्वक जलाकर मार दिए गए पुजारी के परिजनों और मित्रों ने आज मृतक अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया है। यही नहीं मृतक पुजारी बाबूलाल के परिजनों ने कहा है कि जब तक उनकी सभी मांगे पूरी नहीं होती, वे मृतक का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। बताया जा रहा है कि मृतक के 50 लाख रूपये और एक सरकारी नौकरी की मांग की है। इस मामले में पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

दरअसल, मृतक के परिवार वालों का कहना है कि जबतक उन्हें राज्य सरकार 50 लाख रूपये, और उनके एक बच्चे को सरकारी नौकरी नहीं देती वे तब तक मृतक का अंतिम संकार नहीं करेंगे। वहीं राजस्थान पुलिस ने हत्या के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। यही नहीं मृतक के परिवार का यह भी कहना है कि दोषियों का साथ दे रहे पुलिसकर्मियों को भी गिरफ्तार किया जाए और उन्हें पूर्ण सुरक्षा दी जाए।

इधर इस घटना को लेकर जयपुर और करौली जिले में पुजारियों और ब्राह्मण समाज में काफी नाराजगी है।  इतना ही नहीं ब्राह्मण समाज, पुजारी संघ, बजरंग दल, बीजेपी कार्यकर्ताओं ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन देकर त्वरित एक्शन की मांग भी की थी। इधर प्रशासन ने पुजारी के परिजनों से अंतिम संस्कार किए जाने का अनुरोध किया है। इस मुद्दे पर करौली के SDM ओम प्रकाश मीणा ने बताया कि, “पुजारी बाबूलाल के परिजनों ने अब अपनी चौथी डिमांड भी सामने रखी है। हम सीनियर अफसरों के जरिये सरकार को उनकी मांग के बारे में बता देंगे। फिलहाल हमारी परिजनों से यही अपील हैं कि वे दाह संस्कार कर दें क्योंकि वैसे भी अब शव को रखे हुए दो दिन पुरे हो चुके हैं।

बता दें कि राजस्थान के करौली जिले के सपोटरा क्षेत्र में गुरुवार को एक 50 वर्षीय मंदिर के पुजारी को आग लगा दी गई थी। माना जा रहा है कि छह हमलावर भू-माफियाओं ने उस पर मिट्टी का तेल और पेट्रोल डाला और उन्हें आग लगा दी थी।पुजारी ने बाद में सवाई मान सिंह (एसएमएस) अस्पताल में अपनी गंभीर जले चोटों के कारण दम तोड़ दिया था। रिपोर्ट्स में कहा गया है कि पुजारी पर हमला करने वाले छह हमलावर थे जो अभी पुलिस की गिरफ्त में हैं।