Odisha Rath Yatra begins historic Jagannath Rath Yatra in Puri
File Photo

    पुरी: ओडिशा में पुरी जिले के प्रशासन ने भगवान जगन्नाथ की ‘बहुदा जात्रा’ से पहले सोमवार शाम से मंदिर नगरी में कर्फ्यू लगा दिया है। यह यात्रा मंगलवार को निकलेगी। अधिकारियों ने बताया कि प्रशासन ने निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने वालों पर नजर रखने के लिए विशेष टीमें भी तैनात की हैं।

    पुरी के जिलाधिकारी समर्थ वर्मा ने बताया कि पुरी शहर में 19 जुलाई की रात आठ बजे से 21 जुलाई की रात आठ बजे तक दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 के तहत कर्फ्यू लगाया गया है, ताकि ग्रैंड रोड और ग्रैंड रोड से सटे भवनों की बालकनियों तथा छतों पर लोगों को जुटने को प्रतिबंधित किया जा सके। 

    पुरी के पुलिस अधीक्षक (एसपी) कंवर विशाल सिंह ने कहा, “हमने ग्रैंड रोड पर व्यक्तियों की औचक जांच करने के लिए टीमों को तैनात किया है ताकि कर्फ्यू के आदेश का उल्लंघन करने वालों को पकड़ा जा सके।” उन्होंने श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (एसजेटीए) के मुख्य प्रशासक कृष्ण कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में जिलाधिकारी के साथ हिस्सा लिया था।

    एसपी ने कहा कि पवित्र शहर में अवांछित व्यक्तियों के प्रवेश को रोकने के लिए कई उपाय किए जा रहे हैं। केवल सेवादारों, चयनित अधिकारियों को ही उत्सव में भाग लेने की अनुमति होगी और इस आयोजन में जनता की भागीदारी पर सख्त प्रतिबंध है।इस बीच, एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने पुरी शहर के सभी प्रवेश स्थलों को सील कर दिया है और केवल स्थानीय निवासियों को सत्यापन के बाद आने-जाने की अनुमति है। ग्रैंड रोड के दोनों ओर के सभी होटल, लॉज और गेस्ट हाउस बंद कर दिए गए हैं।

    कुमार ने कहा कि कोविड -19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए बहुदा जात्रा के सुचारू संचालन के लिए सभी व्यवस्थाएं कर ली गई हैं। बैठक में भगवान बहुदा जात्रा (20 जुलाई), सुना बेशा या स्वर्ण पोशाक (21 जुलाई) और नीलाद्रि बीजे या मंदिर में वापसी (23 जुलाई) अनुष्ठान करने के लिए एक विस्तृत खाका तैयार किया गया है।(एजेंसी)