Corona Death
Representational Pic

    ओडिशा: देश में कोरोना की दूसरी लहर ने जमकर तबाही मचाई है। इस महामारी की वजह से कई लोगों ने अपनों को हमेशा के लिए खो दिया है। वहीं कुछ लोग तो इस दौरान भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आए हैं। इस भयानक महामारी में भी कुछ लोग लूट-पाट को नहीं छोड़ रहे और मजबूर लोगों का फायदा उठा रहे। इस दौरान दवाओं की कालाबाजारी तो हो ही रही है, साथ ही अस्पताल में बेड के लिए भी रिश्वत गिरी चल रही है। इसी बीच इंसानियत को शर्मसार करने वाली एक खबर ओडिशा के केंदूझर जिले से सामने आई है। 

    मीडिया रिपोर्ट की मानें तो, ओडिशा के केंदूझर जिले के कृष्णापुर गांव की रहने वाली महिला का कोरोना से मृत्यु हो जाती है। जिसके शव को अस्पताल प्रबंधन की ओर से घर वालों को सौंपे जाने के बाद श्मशान-घाट पर लाया गया था, ताकि उसका अंतिम संस्कार किया जा सके। जहां महिला के बेटे ने मां के चेहरे के अंतिम बार दर्शन करने की इच्छा जाहिर कि तो उससे श्मशान-घाट पर तैनात एक कर्मचारी ने 5,000 रुपये की मांग की, जो बेहद ही हैरान करने वाली बात है। 

    रिपोर्ट्स की मानें तो, यह मामला महिला के बेटे ने कैमरे में कैद कर लिया था, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। घूस मांगने वाले को जब पता चला कि उसकी बातचीत महिला का बेटा कैमरे में कैद कर रहा है तो उसने इस पर सवाल किया। जिस पर महिला के बेटे ने जवाब दिया, ‘अगर मैं अपनी मरी हुई मां का सिर्फ चेहरा देखने के लिए 5,000 रुपये दे रहा हूं तो मैं इसे रिकार्ड भी करूंगा और इंटरनेट पर अपलोड भी करूंगा, फिर चाहे इसके लिए मुझे जेल ही क्यों न जाना पड़े।’ वीडियो वायरल होते ही लोगों ने इस पर नाराज़गी जताई है। वहीं रिपोर्ट के मुताबिक, केंदूझर के जिला कलेक्टर आशीष ठाकरे ने कहा कि, इस पूरे मामले पर जांच के आदेश दिए गए हैं। इसपर उपयुक्त कार्रवाई की जाएगी।